BREAKING NEWS

प्रदेश सरकार को सहायता देने के बजाए छलावा कर रही केंद्र सरकार

प्रदेश सरकार को सहायता देने के बजाए छलावा कर रही केंद्र सरकार
बैतूल। केन्द्र सरकार की व्देषपूर्ण एवं भेदभाव नीति के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आव्हान पर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा सोमवार को जय स्तंभ चौक कोठीबाजार पर धरना प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में उल्लेख किया किया कि इस वर्ष अतिवृष्टि एवं प्राकृतिक आपदाओं से ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि एवं जन-धन का भारी नुकसान हुआ है। जिसका आकलन कर केन्द्र सरकार को रिपोर्ट देने के बाद प्रदेश शासन ने केन्द्र से सहायता राशि की मांग की थी। लेकिन द्वेषपूर्ण राजनीति के चलते आज पर्यंत तक केन्द्र शासन ने राज्य को सहायता राशि उपलब्ध नहीं कराई है। इसके पूर्व जय स्तंभ चौक पर आयोजित धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक विनोद डागा ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार मध्य प्रदेश की जनता के साथ द्वेषपूर्ण व्यवहार करते हुए राशि का आवंटन नहीं कर रही है, वहीं केन्द्र में जब अपनी कांग्रेस सरकार थी उस समय बिना भेदभाव के राशि दी जाती थी। आज किसान की फसल खराब होने के कारण परेशान है। विधायक निलय डागा ने कहा कि केन्द्र की सहायता नहीं मिलने के बाद भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लगभग 200 करोड़ रूपए का मुआवजा सहायता राशि किसानों को वितरित की। केन्द्र की भाजपा सरकार के 28 सांसद मध्य प्रदेश में है। इनमें से आज तक एक भी सांसद ने दिल्ली में मध्य प्रदेश के किसानों के पक्ष में कोई बात नहीं की। हम उन्हें आमंत्रण देते है कि वह हमारे साथ दिल्ली चलकर मध्य प्रदेश के किसानों की फसलों एवं जनधन की नुकसानी के मुआवजा एवं सहायता राशि की मांग करे। जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के प्रशासक अरूण गोठी ने कहा कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कलनाथ ने सरकार का खजाना खाली मिलने के बाद भी अपने वादे को निभाते हुए किसानों के कर्जमाफी प्रारंभ की और अभी तक बैतूल जिले में ही हजारों किसानों का 50 हजार रूपए तक का कर्जा माफ हो चुका है और बाकी भी तैयारी चल रही है। लोकसभा प्रत्याशी रामू टेकाम ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसी भी प्रदेश के साथ कभी भेदभाव रवैया नहीं अपनाया। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को बताया कि केन्द्रीयकृत कांग्रेस सरकार ने गुजारात को विकास कार्य के लिए निरंतर उनके हिस्से की राशि एवं आपदा के समय राशि उपलब्ध कराई है। मध्य प्रदेश के भाजपा सांसदों का किसानों की समस्याओं को प्रधानमंत्री से अवगत नहीं कराना मध्य प्रदेश की जनता का अपमान है। कार्यक्रम को समीर खान, राजेन्द्र जायसवाल, प्रकाश तायवाड़े, अनुराग मिश्रा, रमेश गायकवाड़, नितेश साहू, जमुना पंडाग्रे, ब्रजभूषण पांडे आदि ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन जिला कांग्रेस प्रवक्ता हेमंत पगारिया ने किया एवं आभार कांग्रेस नेता रक्कू शर्मा ने व्यक्त किया। धरना प्रदर्शन के बाद सैंकड़ों कांग्रेसजनों ने जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा के नेतृत्व में जुलूस निकालकर कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें मध्य प्रदेश में अतिवर्षा एवं बाढ़ से प्राकृतिक आपदा का सामना करने वाले लगभग 39 जिलों की 284 तहसीलें प्रभावित हुई है। जिसमें लगभग 16270 करोड़ की फसले बर्बाद हुई है। लगभग 1 लाख 20 हजार घरों को क्षति पहुंची है। 674 नागरिकों को अपने प्राण गवांने पड़े। लगभग 11 हजार किलोमीटर से अधिक की सड़के, 1 हजार से अधिक पुल-पुलियां, 19735 स्कूल भवन, 218 छात्रावास, 230 स्वास्थ्य केन्द्र, 17106 आंगनवाडिय़ा क्षतिग्रस्त हुई है। इसके दृष्टिगत केन्द्र सरकार से 6 हजार 621 करोड़ 28 लाख रूपए की मांग की थी। लेकिन आज तक केन्द्र सरकार ने राष्ट्रीय आपदा कोस से एक रूपया भी नहीं दिया। इसके साथ ही कई योजनाओं के हजारों करोड़ो रूपए का आवंटन अभी तक जारी नहीं हुआ। केन्द्रीय करों के हिस्से की 2 हजार 677 करोड़ रूपए मध्य प्रदेश को कम दिए गए। इन सब राशि को शीघ्र मध्य प्रदेश को दिलाने की मांग राष्ट्रपति से की गई। कार्यक्रम में जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा, विधायक निलय डागा, ब्रम्हा भलावी, प्रदेश सचिव समीर खान, हेमंत वागद्रे, अरूण गोठी, राजेन्द्र जायसवाल, नरेन्द्र मिश्रा, नरेन्द्र मेहतो, नेकराम यादव, नामदेव यादव, तरूण कालभोर, भगवान जावरे, प्रकाश तायवाड़े, आशा भारती, डॉ.राजेन्द्र देशमुख, हेमंत पगारिया, सरफराज खान, डोरेलाल पारधे, रक्कू शर्मा, रजनीश सोनी, रमेश गायकवाड़, गंगा रावत, मोनिका निरापूरे, सिंधू लोनारे, जमुना पंडाग्रे, रेखा कनौजिया, कमल सोनी, नवनीत मालवीय, तिरूपति एरूलू, निर्मला सोनी, अनिल भुसारी, कमल आर्य, रूपेश आर्य, बटनू पटेल, मनोज मालवे, संजय मावस्कर, मिथलेश राजपूत, पप्पू माथनकर, राजेश गावंडे, नरेन्द्र पटेल, राजा सोनी, अतुल शर्मा, पवन शर्मा, नितेश साहू, विजय पारधी, शीलू चिमुरकर, अनिल मगरकार, बल्लू मालवी, राजकुमार मालवीय, संजय साहू, भोला कांति, विजय उपराले, रामलखन यादव, सुरेन्द्र सिंह राजपूत, ललित शर्मा, मदन चौहान, नंदकिशोर उईके, शिवनारायण मर्सकोले, राजेन्द्र मानकर, महेन्द्र भारती, विक्की सिंग, इलियास भाई, शिवनाथ यादव, धीरू शर्मा, सीटू गुप्ता, राघवेन्द्र मिश्रा, मोनू बड़ोनिया, किशोर डब्बू जैन, बंटी ठाकुर, प्रशांत तिवारी, हेमंत मानकर, सोमेश त्रिवेदी, राजू माने, राजा धुर्वे, अशोक राठौर, अशोक निरापुरे, अयूप मंसूरी, अनुभव गोहे, अंकित वर्मा, गणेश ढोंमने, रमेश भाटिया, रवि त्रिपाठी, मोहन मिश्रा, चंदू यादव, अजय टंडन, नितिन मांडले, मनोति पार्षद, सलमान खान, आशीष जैन, नत्थन गायकवाड़, उभय धोटे, नाथूराम बारस्कर, लोकेश मोरले, प्रिंस साहू, शाबिर शाह, विनोद कुमार बेले, उमेश बेले, गिरीश झाम , उमेश यादव, रघुनाथ बर्डे, विनय ठाकरे, नत्थया गायकवाड़ सहित सैकड़ो कांग्रेसजन उपस्थित थे।