BREAKING NEWS

बर्बाद फसल का सर्वे करने खेतों में पहुंचा प्रशासनिक अमला

बर्बाद फसल का सर्वे करने खेतों में पहुंचा प्रशासनिक अमला
आमला। पिछले दो माह से हुई मुसलाधार वर्षा ने किसानों की फसलों को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है। अतिवृष्टि ने खड़े खेत के खेत चौपट कर दिये है किसान निराश एवं चिंतित है परेशान है। पहले तो प्रशासनिक अमला नींद में था जब किसानों ने धरना प्रदर्शन आंदोलन किये तब कहीं प्रशासनीक अमले की नींद टूटी और वो भी उस समय जब किसानों ने खेतों में फसल की कटाई प्रारंभ कर दी थी। अब प्रशासनिक अमला खेतो में जाकर फसल कटाई प्रयोग कर रहा है। पटवारी, कृषि विभाग के अधिकारी, राजस्व के अधिकारी ,बीमा कंपनी के कर्मचारी खेतों में पंहुचकर फसल कटाई प्रयोग कर रहे है और नुकसान का जायजा लिया जा रहा है। फसल कटाई प्रयोग में खेत की एक निश्चित् जगह में हुऐ नुकसान का आंकलन किया जाता है और उसके आधार पर आसपास के क्षेत्र में हुऐ नुकसान का आंकलन किया जाता है। इस विषय में एस.डी.एम. मुलताई सी.एल .चन्नप्पा ने बताया कि पटवारियों की हड़ताल एवं त्यौहारों के कारण कुछ देरी अवश्य हुई है लेकिन अब तेजी से कार्य किया जा रहा है जल्द ही पूरा काम निपटाया जाऐगा और किसानों को हुऐ नुकसान की भरपाई की जाऐगी। सभी को मिलना चाहिए लाभ जनपद सदस्य केवल झामू धुर्वे ने बताया कि पहले तो देर से कार्य चालू किया। फसल का नुकसान तो सभी का हुआ है। ऐसे किसान जिन्होंने बीमा न करवाया हो उन्हें भी मुआवजा मिलना चाहिए इसके लिये भी सर्वे कर नुकसान का आंकलन कर किसानों को मुआवजा दिया जाये।