BREAKING NEWS

बालदिवस पर केबीनेट मंत्री ने बच्चों को दी फर्नीचर की सौगात

बालदिवस पर केबीनेट मंत्री ने बच्चों को दी फर्नीचर की सौगात
मुलताई। देश के प्रथम दूरदर्शी प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस पर नगर सहित पूरे क्षेत्र में विभिन्न आयोजन संपन्न हुए। बाल दिवस पर जहां हरदौली की शाला में केबिनेट मंत्री सुखदेव पांसे ने पहुंचकर बच्चों से मुलाकात की एवं उनकी समस्या सुनी। वहीं स्कूल में फर्नीचर एवं पानी की समस्या का निराकरण भी किया। इस दौरान पांसे ने बच्चों से विभिन्न विषयों पर चर्चा कर उनका सामान्य ज्ञान भी परखा। इस दौरान उनके साथ सरपंच पिन्टू ठाकरे, किशोरसिंह परिहार, नीतेश साहू भी थे। देश का नाम रोशन करें बच्चे श्री पांसे ने बच्चों से कहा कि वे देश का भविष्य है इसलिए खूब पढ़े लिखें तथा देश का नाम रोशन करें। उन्होंने बताया कि बाल दिवस देश के प्रथम दूरदर्शी प्रधानमंत्री पंडित नेहरू के जन्मदिन पर मनाया जाता है क्योंकि नेहरू जी को बच्चों से बेहद प्यार था। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे अपना लक्ष्य निर्धारित करेंं और उसी पर चलें तो सफलता अवश्य मिलेगी। इसके अलावा पूरे क्षेत्र के स्कूलों में बाल दिवस पर बाल मेले सहित विभिन्न रंगारंग आयोजन हुए जिसमें बच्चों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। कहीं बच्चों ने फैंसी प्रतियोगिता में जौहर दिखाए तो कहीं चित्रकारी में इसके साथ ही बच्चों ने वाद-विवाद एवं अन्य प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा लिया। 223 शालेय बच्चों को भेंट की थालियां बाल दिवस के अवसर पर ग्राम डहुआ के शालेय बच्चों को जय मां भवानी दुर्गा उत्सव मंडल द्वारा 223 थालियां भेंट की गई ताकि बच्चे थालियों में व्यवस्थित रूप से भोजन कर सकें। मंडल के सदस्य केडी बारंगे, संतोष बुआड़े, सुनील पिंजारे, रवि बारंगे, अखिलेश कोड़ले तथा मनोज बारंगे ने बताया कि बच्चों के लिए मंडल द्वारा थालियां भेंट की गई है इस अवसर पर शाला में विभिन्न प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया जिसमें बच्चों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। बाल दिवस पर नगर के टेकड़े वाले स्कूल में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बाल रंग मेला आयोजित किया गया। वार्ड पार्षद हनी सरदार के द्वारा मेले का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी प्रमीला माकोड़े द्वारा पंडित जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि उन्हे बच्चों से कितना प्यार था इसीलिए उनके जन्मदिवस को बाल दिवस के रूप में मनाते हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शारदा साहू ने बताया कि बाल रंग मेले में बच्चों द्वारा चित्रकारी, मिट्टी के खिलौने, कागज के खिलौने बनाने सहित कुर्सी दौड़ आदि में हुनर के जौहर दिखाए गए। फैन्सी ड्रेस में गांधी जी, नेहरू जी, नेताजी, डाक्टर, नर्स, भगवान शंकर, महारानी लक्ष्मीबाई, डा.सर्वपल्ली राधाकृष्णन बनकर बच्चों ने लोगों का मना मोहा। इस दौरान बच्चों के अभिभावकों की क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया तथा बच्चों की शिक्षा के बारे में उन्हे अनौपचारिक जानकारी भी प्रदान की गई।