BREAKING NEWS

बिना सुरक्षा इंतजाम के ठेकेदार डिस्मेंटल कर रहा टंकी

बिना सुरक्षा इंतजाम के ठेकेदार डिस्मेंटल कर रहा टंकी
मुलताई। नगर के इंदिरा गांधी वार्ड में नागपुर नाके पर बनी नगर की सबसे पुरानी पानी की टंकी को तोडऩे का काम शुरू किया जा चुका है, लेकिन सुरक्षा के इंतजाम के बिना ठेकेदार ने टंकी के पिल्लर तोडऩा शुरू कर दिए हैं, ऐसे में कभी भी कोई हादसा हो सकता है। उक्त मार्ग को पूरी तरह से बंद किए बिना ही टंकी को तोड़ा जाना किसी बड़ी दुर्घटना को न्यौता दे सकता है, वहीं बिजली के तार भी हवा में झूल रहे हैं, ऐसे में यदि अचानक टंकी गिरती है तो किसी बड़े हादसे को निमंत्रण दे सकती है। इंदिरा गांधी वार्ड पुराना बेरियर नाके पर वर्षों पुरानी जर्जर पेयजल टंकी से नगर पालिका द्वारा जलप्रदाय बंद कर दिया गया है। इसकी जगह अब सीएमओ बंगले के पास स्थित टंकी से पानी की सप्लाई की जा रही है। पुरानी टंकी को नगर पालिका द्वारा तोडऩे के निर्देश दे दिए गए थे, जिसे तोडऩे के लिए टैंडर प्रक्रिया के बाद भोपाल के एक ठेकेदार को इस टंकी को तोडऩे का ठेका दिया जा चुका है और ठेकेदार ने आनन-फानन में काम भी शुरू कर दिया है। नगर के सबसे उंचे स्थान पर स्थित लगभग 50 वर्ष से अधिक पुरानी पेयजल टंकी कई वर्ष पहले ही जर्जर हो चुकी इस टंकी को तोडऩे के लिए ठेकेदार द्वारा कोई सुरक्षा इंतजाम नहीं अपनाए हैं, ठेकेदार द्वारा सीधे टंकी के पिल्लर को तोडऩे का काम शुरू कर दिया गया है। इस संबन्ध में सीएमओ राहुल शर्मा ने बताया कि टंकी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी थी इसलिए अब इससे पानी की सप्लाई करना खतरे से खाली नही था। उक्त टंकी के जर्जर होने से कभी भी कोई गंभीर दुर्घटना हो सकती थी इसलिए पानी की टकी को तुडवाया जा रहा है। ठेकेदार द्वारा पिल्लर तोडऩे की सूचना मिलने पर तुरंत ही एई को इसकी सूचना दी गई, वहीं सुरक्षा के इंतजाम भी करवाए जा रहे हैं। सीएमओ राहुल शर्मा ने बताया कि टंकी तोडऩे के काम जरा सी भी लापरवाही नहीं बरती जा सकती, क्योंकि इससे कोई हादसा भी हो सकता है। उन्होंने बताया कि एक उपयंत्री की देखरेख में टंकी को तोडऩे काम किया जाएगा, सोमवार से एक उपयंत्री की निगरानी में टंकी तोडऩे का काम होगा। पिल्लर तोड़कर गिराई जाएगी टंकी बताया जा रहा है कि जिस ठेकेदार ने टंकी गिराने का ठेका लिया है, उसके द्वारा टंकी के बेस में बने पिल्लर तोड़कर टंकी को गिराने का काम किया जा रहा है, ठेकेदार की योजना है कि पिल्लरों को एक ओर से तोड़कर टंकी को सीमेंट सड़क की ओर सीधी गिराई जाए और इसके बाद इस टंकी को छोटे-छोटे भागों में बांटकर इसका मलबा उठा लिया जाए, लेकिन जिस ओर टंकी को गिराने की योजना है, उस ओर हवा में बिजली के तार झूल रहे हैं, जिन्हें भी हटाया जाना जरूरी है, वरना कोई हादसा हो सकता है। मार्ग को ब्लाक करना जरूरी टंकी तोडऩे का काम आसान नहीं है, अभी तक कई बार टंकी तोडऩे के दौरान हादसे हो चुके हैं और लोग अपनी जान गवां चुके हैं, ऐसे में इस काम को सतर्कता के साथ करना पड़ता है। रेस्ट हाऊस के समीप इस टंकी को तोडऩे के लिए भी एहतियात की आवश्कता है, जिस मार्ग पर यह टंकी स्थित है, उस मार्ग को ब्लाक करना सबसे पहले जरूरी है, क्योंकि पिल्लर एकदम कमजोर हो गए हैं और कभी भी टंकी गिर सकती है, नगर पालिका द्वारा एतिहात एक बोर्ड लगाकर इस टंकी के कंडम होने की जानकारी लोगों को दी गई है, लेकिन इस मार्ग को बंद करवाया जाना सबसे ज्यादा जरूरी है। इनका कहना... एई से इस संबंध में चर्चा की गई है और एक उपयंत्री की निगरानी में टंकी गिराने का काम करवाने के निर्देश दिए गए है। राहुल शर्मा, सीएमओ, नगर पालिका, मुलताई।