BREAKING NEWS

अंतिम तिथि निकलने से प्रवेश से वंचित रह गए विद्यार्थी

अंतिम तिथि निकलने से प्रवेश से वंचित रह गए विद्यार्थी
आमला। कोरोना संक्रमण और बीच बीच में लगातार लॉकडाउन का असर छात्र छात्राओं पर भी पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। शिक्षा विभाग द्वारा 9 वीं व 11 वीं कक्षा में प्रवेश की अंतिम तिथि 12 अगस्त तय की थी हालांकि 12 अगस्त को शासकीय अवकाश होने के कारण 13 अगस्त तक आवेदन लिये गये थे लेकिन प्रचार प्रसार और साधनों के अभाव में आमला ब्लॉक के सैकड़ों छात्र- छात्राएं शासकीय स्कूलों में प्रवेश लेने से वंचित रह गये और उनके पालक स्कूल में बच्चों के दाखिले के लिए परेशान है और शिक्षण संस्थाओं के चक्कर लगा रहे है। पालकों का कहना है कि शिक्षा विभाग प्रवेश की अंतिम तिथि बढ़ाये जिससे सभी बच्चों द्वारा स्कूलों में प्रवेश लिया जा सकें। ग्राम रतेड़ाखुर्द के अशोक इवने ने बताया कि कई बच्चें प्रवेश से वंचित रह गये है। ग्रामीण अंचलों में साधनों का अभाव है बसे बंद है। प्रचार- प्रसार की भी कमी थी जिसके कारण कई पालकों को अंतिम तिथि का पता ही नहीं चल पाया और जब पालक अपने बच्चों को प्रवेश दिलाने के लिए शिक्षक संस्थाओं में पहुंचे तो उन्हें बताया गया कि प्रवेश की अंतिम तिथि निकल चुकी है अब प्रवेश नही मिलेगा। ग्रामीण अशोक इवने सहित दो दर्जन से अधिक पालकों ने शिक्षा विभाग से मांग की है कि प्रवेश की तिथि बढ़ाई जाये। इस विषय में शासकीय उत्कृष्ट स्कूल के प्राचार्य बसंत निमजे से चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि प्रवेश की अंतिम तिथि 31 जुलाई थी फि र तिथि बढ़ाकर 12 अगस्त की गई और 12 अगस्त को अवकाश होने के कारण हमने 13 अगस्त तक बच्चों को प्रवेश दिया। अब शासन के आदेश के बाद ही प्रवेश दिया जा सकेगा। आमला ब्लॉक में 68 ग्राम पंचायतें है और लगभग 200 सैकड़ा से अधिक ग्राम है जिनके लिऐ सिर्फ 13 शासकीय हाईस्कूल है और 14 हायरसेकेण्ड्री स्कूल है। इन स्कूलों में प्रवेश लेने के लिए छात्रों और पालकों को लंबी दूरी तय करना पड़ता है। कोविड़-19 के कारण अब तक स्कूलों में ताले लगे है जिसके कारण बच्चों और पालकों में प्रवेश लेकर असमंजस था कि प्रवेश प्रारंभ हुए है या नहीं। जिससे कई छात्र प्रवेश से वंचित रह गये। शासकीय उत्कृष्ट उ.मा.वि. आमला के प्राचार्य बसंत निमजे ने बताया कि अंतिम तिथि निकल जाने के बाद भी लगातार पालक और बच्चें प्रवेश लेने के लिए हमसे सम्पर्क कर रहे है। यहि स्थिति दूसरे स्कूलों की भी है। शासकीय क.उ.मा. विद्यालय आमला में भी प्रवेश लेने के लिए बच्चें लगातार चक्कर लगा रहे है। अस्थाई रूप से दिया जाएगा प्रवेश इस विषय में खण्ड शिक्षा अधिकारी एस.डी.वरकड़े से चर्चा की गई तो उन्होंने बताया कि कोविड़-19 के कारण कई बच्चें प्रवेश से वंचित रह गये है। हमारे द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की गई है। फि लहाल अस्थाई रूप से प्रवेश दिया जा रहा है। वरिष्ठ कार्यालय से आगे जैसे भी निर्देश होंगे वैसे छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now