BREAKING NEWS

अब नालों का काम नहीं करेगी नपा-रिटेनिंग वाल से ही होगा सुधार

अब नालों का काम नहीं करेगी नपा-रिटेनिंग वाल से ही होगा सुधार
सारनी। शहर के प्रत्येक क्षेत्र में दर्जनों की संख्या में नाले हैं। इन नालों में बारिश का बहता है और बाढ़ का खतरा रहता है। नपा ने कई नालों का सीमेंटीकरण कर काम किया है, लेकिन वार्डों में पानी घुसने की शिकायत आने के बाद नगर पालिका ने नालों का पक्का काम करने से परहेज कर ली है। ऐसे नालों में केवल रिटेनिंग वाल भर बनेगी। इसके अलावा नालों के कामों की पूरी जिम्मेदारी उपयंत्रितयों की रहेगी। शहर में काफी संख्या में नाले हैं। ऐसे में बारिश में ये खतरनाक हो जाते हैं। वार्डों में संकरे नालों के कारण बारिश का पानी भरता है। इस स्थिति में नगर पालिका के सामने दोहरी चुनौती होती है। पार्षदों के कहने पर नगर पालिका नालों का पक्का काम करती है, लेकिन कई स्थानों पर ऊंची-नीची जमीन होने के कारण नालों का काम ठीक नहीं हो पाता। इससे पानी मोहल्लों और घरों में घुस जाता है। इससे दिक्कतें बढ़ती हैं। वार्ड 26, 27 और 28 के कुछ क्षेत्रों में ऐसी समस्याएं आने के बाद अब नगर पालिका ने नालों का पक्का सुधार करना बंद कर दिया है। हालांकि नालों के सुधार के लिए रिटेनिंग वाल जरूर बनाएंगी। सीएमओ सीके मेश्राम ने सभी इंजीनियरों को इसके लिए पत्र जारी किया है। उन्होंने पत्र में कहां हर नाले का इंजीनियर खुद वेरीफिकेशन करें। शहर के वार्डों में जहां नाले हैं वहां लोगों ने अतिक्रमण भी कर रखा है। इससे नालों की चौड़ाई कम हो गई है। यही कारण है वार्डों में घरों तक पानी घुसता है। लोग नपा पर ठीकरा फोड़ते हैं, लेेकिन अतिक्रमण बड़ा कारण है। नपा ने यह भी तय किया है जहां पर्याप्त जगह नहीं हो वहां नालों का काम ना करें। इधर कांग्रेस के जिला सचिव नारायण खातरकर ने नपा अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपकर कार्यों में लापरवाही का आोप लगाया। उन्होंने कहा नपाध्यक्ष गुणवत्तायुक्त कार्य चाहती हैं, लेकिन उपयंत्री कार्यों पर ध्यान नहीं देते। उन्होंने कहा वार्ड 22 में प्रेम नगर से ट्रेचिंग ग्राउंड तक पहुंच मार्ग में डब्ल्यूबीएम सड़क बनाकर रोलर चलाया जाना चाहिए, लेकिन ध्यान नहीं देने के कारण काम घटिया हो रहा है। नपाध्यक्ष आशा भारती को ज्ञापन सौंपते समय यहां पार्षद बबलू वामनकर, विक्की सिंह, वसीम खान के अलावा अन्य लोग मौजूद थे। उपयंत्रियों को दी है हिदायत नगर पालिका नालों के भीतर पक्का काम नहीं करेगी। हां, जहां जरूरी है वहां रिटेनिंग वाल जरूर बनाई जाएगी। उपयंत्रियों की जिम्मेदारियां तय की है। पानी घुसने के मामलों में कार्रवाई की जा रही है। सीके मेश्राम सीएमओ नपा सारनी

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now