BREAKING NEWS

आस्था का केंद्र बना हुआ खेड़ापति माता मंदिर

आस्था का केंद्र बना हुआ खेड़ापति माता मंदिर
शाहपुर। नगर से होकर गुजरने वाले मुख्य राजमार्ग क्रमांक 69 से खेड़ापति मंदिर लगा हुआ है। यह मंदिर विगत सैकड़ों सालों से नगर वासियों की आस्था का स्थान है। कहते हैं यह नगर का सबसे पुराना स्थान है। स्थापना के समय यह मंदिर नगर के मुहाने पर था, इस कारण इसका नाम खेड़ापति माता मंदिर हो गया। नवरात्रि के समय यहां बड़ी संख्या में नगर वासी स्नान एवं पूजा करने पहुंचते थे। माँ के नाती पोते सलकनपुर पद यात्रा दल के सदस्यों द्वारा नवरात्रि के प्रथम दिवस मंदिर की फूलों से साज सज्जा कर मंदिर को सुशोभित किया। नगर का प्राचीन मंदिर होने के कारण आज भी बड़ी संख्या में नगरवासी माता-पूजन करने के लिए यहां पहुंचते थे। नगर में हर एक विवाह के दौरान कन्या एवं वर का माता पूजन इसी मंदिर में होता है एवं हर शुभ कार्य का श्री गणेश यही से प्रारंभ होता है। नगर वासियो की आस्था का केन्द्र माता खेड़ापति हैं। अष्टमी के दिन पद यात्रियों के दल द्वारा विशाल फलहारी भंडारा का आयोजन किया जाता था। पहले यह चैत, कुँआर के महीने नवरात्रि के समय यहां काफी भीड़ रहती थी श्रद्धालु माता पर जल चढ़ाने के लिये अपनी बारी का इंतजार करते थे। प्रात: 4 बजे से ही प्रकिया प्रारंभ हो जाती थी लेकिन अब इस कोरोना महामारी काल के चलते लोगो मे मायूसी छा गई जिससे मंदिर में भीड़ नहीं दिख रही ।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now