BREAKING NEWS

एक लीटर सैनेटाईजर में एक हजार हाथों को किया जा सकेगा सैनेटाईज

एक लीटर सैनेटाईजर में एक हजार हाथों को किया जा सकेगा सैनेटाईज
बैतूल। यदि प्रतिभा हो तो कुछ भी कठिन काम नहीं होता है। भले ही संसाधन ना भी मिले तो जुगाड़ से काम चल जाता है। बैतूल के दो युवा इंजीनियरों ने कोरोना महामारी को देखते हुए एक 9 हजार रुपए में सैनेटार्इ जर मशीन बना ली है। इस मशीन की खासियत यह है कि इसमें महज 1 लीटर सैनेटाईजर डालने से 1 हजार लोगों के हाथ सैनेटाईज किए जा सकते हैं। यह मशीन महावीर वार्ड निवासी युवा इंजीनियर रितेश नामदेव बीई इलेक्ट्रानिक्स एवं यश मालवीय बीई मैकेनिकल ने मात्र दो माह के भीतर ऐसी मशीन तैयार कर ली, जिसे बिना छुए लोगों के हाथ सैनिटाइज हो जाएंगे, जिससे संक्रमण का खतर भी टल जाएगा। 9 हजार रुपए में बनाई मशीन रितेश और यश ने बताया कि मात्र 9 हजार रूपए के खर्च में यह मशीन तैयार की गई है, जिसमें माइक्रो कंट्रोलर बेस्ड प्रोजेक्ट, अल्ट्रा सोनिक सैंसर के साथ-साथ 12 वोल्ट के अडाप्टर का उपयोग किया गया है। इस मशीन के निचले हिस्से में हाथ ले जाते ही मशीन एक सेकंड में हाथों को सैनिटाइज कर देती है। एक बार में मशीन में लगभग एक लीटर सैनिटाइजर का उपयोग किया जा सकता है और इस एक लीटर सैनिटाइजर से लगभग 500 से 1000 लोग अपने हाथ सैनिटाइज कर सकते है। दोनों इंजीनियरों ने बताया कि हैंड सैनिटाइज करने का समय भी मशीन में फिक्स किया गया है। जैसे ही हाथ मशीन के निचले हिस्से में पहुंचेंगे, एक सेकंड के भीतर हैंड सैनिटाइज होने के बाद मशीन अपने आप बंद हो जाएगी। कोरोना को ध्यान में रखते बनाई मशीन रितेश नामदेव और यश मालवीय के मुताबिक इस मशीन के निर्माण के लिए उन्हें मात्र 10 हजार रूपए का खर्च आया है, जबकि मार्केट में ऐसी ही हैंड सैनिटाइजर मशीन काफी महंगे दामों पर मिल रही है। दोनों का कहना है कि कोरोना संक्रमण संपर्कों के माध्यम से बढ़ रहा है और इसी सोच को ध्यान में रखते हुए उन्होंने यह मशीन तैयार की है।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now