BREAKING NEWS

एशिया में छा गये श्री विनायकम चिल्ड्रन अकादमी के विद्यार्थी

एशिया में छा गये श्री विनायकम चिल्ड्रन अकादमी के विद्यार्थी
आंखो पर पट्टी बांध कर दिया धाराप्रवाह जवाब बैतूल। श्री विनायकम चिल्ड्रन अकादमी के 55 विद्यार्थियों के अलग अलग ग्रुप ने रसायन विज्ञान की आवर्त सारणी के 118 तत्वों के परमाणु क्रमांक,नाम और प्रतीक चिन्हों के बारे में पूछे जाने पर धाराप्रवाह जवाब देकर इतिहास रच दिया और इंडिया बुक ऑफ रिकार्डस में अपना नाम दर्ज करा लिया । छात्र-छात्राओं के प्रदर्शन उपरांत इंडिया बुक ऑफ रिकार्डस के निर्णायक डाक्टर अंतिम कुमार जैन ने रिकार्ड बनने की घोषणा की साथ ही उन्होनें ये भी कहा कि सामूहिक रूप से स्कूली बच्चों द्वारा किया गया ये सफल प्रयास पूरे भारत में पहली बार किया गया है। कांतिशिवा हॉल में मौजूद गणमान्य नागरिक बच्चों के इस कौशल को देखकर दंग रह गये। स्कूल एवं बच्चों के इस प्रयास ने बैतूल का नाम एशिया पटल पर रोशन कर दिया। दोपहर ग्यारह बजे बैतूल के कांतिशिवा छविग्रह में आयोजित कार्यक्रम में, यहां एशिया पटल पर इंडिया बुक ऑफ रिकार्डस के लिये बारह से सत्रह वर्ष के 55 छात्र-छात्राओं ने रसायन विज्ञान की आवर्त सारणी में सम्मिलित कुल 118 तत्वों के परमाणु क्रमांक,नाम और प्रतीक चिन्हों को आंखों पर पट्टी बांधकर पहले तो क्रमानुसार फिर अनियमित क्रम में निर्णायकों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थित में प्रस्तुत किया। इतना ही नहीं मंच पर आंखो पर पट्टी बांधे स्मरण शक्ति का प्रदर्शन करने आए छात्रों के प्रथम ग्रुप द्वारा 118 तत्वों के परमाणु क्रमांक,नाम और प्रतीक चिन्हों के उत्तर केवल 5 मिनट 27 सेकेंड में दे दिये ये भी अपने आप में एक रिकार्ड है। डायनामिक मेमोरी गुरू डाक्टर ललित गुप्ता के मार्गदर्शन में तैयार स्कूली बच्चों ने अपनी मेहनत से रिकार्ड बना डाला। आयोजकों द्वारा बताया गया कि भारत की प्राचीन ऋषि परंपरा में स्मरण शक्ति को तेज बनाने के लिये जो प्रयास किये जाते थे उन्ही का अनुसरण करते हुए वर्तमान दौर में भी प्रयास किया जा रहा है। इस तकनीक से स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिये मस्तिष्क के बाएं,दाएं और बीच के हिस्से का सर्वाधिक उपयोग कैसे किया जाता है इस बात को सिखाया जाता है। आमतौर पर मस्तिष्क के कुछ हिस्सों का कुछ प्रतिशत ही उपयोग हो पाता है। जिससे एक समय में मात्र पांच या दस चीजों को याद रखा जा सकता है। डायनामिक मेमोरी गुरू डॉक्टर ललित गुप्ता के प्रयासों से स्कूली बच्चों ने अपनी स्मरण शक्ति के दम पर सही जवाब देकर एशिया लेबल पर इतिहास रच दिया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथी विधायक निलय विनोद डागा,जिला शतरंज एसोसियशन के अध्यक्ष उषभ गोठी तथा इंडिया बुक ऑफ रिकार्डस के निर्णायक डॉ अंतिम कुमार जैन,डा मनीष शर्मा, इस अभियान के साक्षी बनने के लिये विशेष तौर पर जेएच कॉलेज के सहायक प्राध्यापक एवं रसायन विभाग प्रमुख डॉक्टर गोपाल प्रसाद साहू और शासकीय कॉलेज आठनेर के डॉक्टर डीएन खासदेव ,श्री विनायकम चिल्ड्रन अकादमी के डायरेक्टर संजय राठौर,अमित मालवीय,कमलेश खासदेव, तरूण वैद्य उपस्थित थे। डायरेक्टर संजय राठौर द्वारा आमंत्रित अतिथियों, गणमान्य नागरिकों,स्कूलों के प्राचार्य तथा मीडिया प्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का सफल संचालन श्याम साहू ने किया।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now