BREAKING NEWS

ओबेदुल्लागंज और भोपाल से आए छिंदवाड़ा और सिवनी के मजदूर-मठारदेव भवन में रुकवाया

ओबेदुल्लागंज और भोपाल से आए छिंदवाड़ा और सिवनी के मजदूर-मठारदेव भवन में रुकवाया
सारनी। लॉक डाउन के कारण ओबेदुल्लागंज और भोपाल से आए सिवनी और छिंदवाड़ा जिले के मजदूरों और कंपनी कर्मचारियों को मजबूरी में सारनी में रुकना पड़ा। बैतूल तक पहुंचे श्रमिकों को सारनी की ओर भिजवा दिया गया था। ऐसे यहां 23 श्रमिकों को बाबा मठारदेव मंगल भवन में रोका गया है। उन्हें छिंदवाड़ा जिले में प्रवेश की अनुमति नहीं मिल पाई है। छिंदवाड़ा और सिवनी जाने के लिए कई श्रमिक पैदल व अन्य माध्यमों से बैतूल और सारनी तक तो पहुंच गए, लेकिन अब यहां से उन्हें अपने गृह जिले में जाने नहीं मिल रहा है। पिछले दो दिनों में सारनी में ऐसे 23 श्रमिक पहुंच गए हैं। अब इनकी देखरेख का जिम्मा प्रशासन पर आ गया है। प्रशासन ने इन्हें श्री मठारदेव बाबा मंगल भवन में रुकवाया है। इनके स्वास्थ्य की जांच कराई गई है। सभी की स्थिति सामान्य है, लेकिन इन्हें बाहर जाने से मना किया गया है। प्रशासनिक निर्देश पर गुरुवार रात और शुक्रवार सुबह नगर पालिका ने स्वयं सेवी संस्थाओं के जरिए भोजन की व्यवस्था करा दी है। इन्हें दोनों समय का भोजन दिया जाएगा। शुक्रवार को सारनी पहुंची तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने इन श्रमिकों के हाल जाने। इसके बाद सीएमओ सीके मेश्राम को इन्हें दोनों समय भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। इनके भोजन की व्यवस्था अलग से की गई है। इसके अलावा सुबह के समय इन्हें चाय और हल्का नाश्ता भी कराया जाएगा। ग्राम गोलाई खुर्द में आशा कार्यकर्ता लता यादव की सूचना पर मोबाइल मेडिकल यूनिट टीम ने ओबेदुल्लागंज से आए लोगों की थर्मल सक्रीनिंग कर होम क्वारंटाइन किया। बाहर से आए सभी लोगों को ग्रामीणों ने ग्राम के बाहर रुकवाया था। इसके बाद आरबीएस के चिकित्सक डॉ. मनोज कुमार सूर्यवंशी और टीम ने गांव में पहुंचकर जांच की। सभी की स्क्रीनिंग की साथ ही ग्रामीणों को समझा कर होम क्वारंटाइन कराया। जिला कलेक्टर ने गुरुवार को जिले की पूरी सीमाओं को पूर्ण रूप से सील कर दिया है। सभी शासकीय कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं कि जिले में आने जाने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। इसके बाद शुक्रवार को घोड़ाडोंगरी तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने बैतूल-छिंदवाड़ा की सीमा पर ग्राम पंचायत खैरवानी का निरीक्षण किया गया। इस दौरान तहसीलदार के साथ सारनी थाना प्रभारी महेंद्र सिंह चौहान सहित स्वास्थ्य विभाग का दल मौजूद रहा। इस दौरान तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को बकायदा जांच करने और लोगों के आवागमन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now