BREAKING NEWS

कोरोना को लेकर एलर्ट हुआ स्वास्थ्य महकमा

कोरोना को लेकर एलर्ट हुआ स्वास्थ्य महकमा
मुलताई। कोरोना वायरस को लेकर अब शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्वास्थ्य महकमा अलर्ट नजर आ रहा है। अस्पताल में मरीजों का उपचार नर्स सहित अन्य स्टाफ के लोग मुंह एवं नाक पर मास्क लगाकर कर रहे हैं वहीं साफ सफाई का भी खासा ध्यान रखा जा रहा है। फिलहाल नगर से मात्र 125 किलोमीटर दूर नागपूर में एक कोरोना वायरस का मरीज मिलने से नगरवासियों के माथे पर चिंता की लकीरें गहरा गई है। क्योंकि मुलताई से नागपूर लोगों का लगातार आना-जाना लगा रहता है एैसे में कभी भी मुलताई में भी कोरोना वायरस का कहर हो सकता है। हालांकि मुलताई के स्वास्थ्य महकमें द्वारा लगातार लोगों को कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट किया जा रहा है तथा सुरक्षा एवं सावधानियों की जानकारी दी जा रही है लेकिन इसके बावजूद अब लोगों को भी जागरूक होना आवश्यक है ताकि स्वयं भी स्वास्थ्य के प्रति सतर्क हो सकें। इस संबन्ध में बीएमओ डा.उदयप्रताप सिंह तोमर ने बताया कि सर्दी-जुकाम एवं बुखार आने पर सीधे अस्पताल में जांच कराना आवश्यक है। इसके अलावा हाथों को स्वच्छ रखें तथा सेनिटाईजर से साफ करते रहें। उन्होने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों को समझाईश तो दी जा रही है लेकिन इसके अलावा सभी को जागरूक होना आवश्यक है तभी कोरोना वायरस से निपटा जा सकता है। सार्वजनिक स्थानों पर कर रहे प्रचार-प्रसार बीएमओ तोमर ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सार्वजनिक स्थलों पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है ताकि लोग जागरूक हो सकें। उन्होने बताया कि अस्पताल परिसर में जगह-जगह बोर्ड, फ्लैक्स सहित पांप्लेट लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा तहसील कार्यालय, बसस्टेंड सहित अन्य सार्वजनिक स्थलों पर कोरोना वायरस को लेकर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। उन्होने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर कुछ सावधानी आवश्यक है जिसके लिए लोगों को अलर्ट रहना होगा। उन्होने बताया कि फिलहाल कोरोना वायरस बाहर के लोगों के आने से ही हो रहा है। इसलिए बाहर से आए संक्रमित लोगों के संपर्क में आने से बचें तथा स्वयं भी आवश्यक सावधानियां रखे। बाहर के मरीजों पर रखी जा रही नजर कोरोना वायरस के लक्षणों में सर्दी, खांसी, जुकाम तथा बुखार सहित स्वांस की समस्या होना प्रमुख है। एैसे मरीजों की तत्काल जांच कराना चाहिए क्योंकि इससे कोरोना वायरस हो सकता है। उन्होने बताया कि अस्पताल में बाहर से आने वाले मरीजों पर नजर रखी जा रही है तथा हल्के से लक्षण पाये जाने पर तत्काल जिला अस्पताल रेफर किया जा रहा है। कोरोना वायरस से पीडि़त मरीजों को अन्य मरीजों से अलग रखकर उपचार किया जाता है। बीएमओ तोमर के अनुसार सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार तथा स्वांस के मरीजों की जांच उपरांत समझा आ जाता है कि ये साधारण है अथवा कोरोना वायरस के लक्षण है इसलिए मरीजों की जांच भी पूरी सतर्कता से की जा रही है। अस्पताल स्टाफ को दिए निर्देश कोरोना वायरस को लेकर हर तरफ हड़कंप मचा हुआ है इसलिए स्वाभाविक तौर पर शासकीय सामुदायिक केन्द्र भी अलर्ट जारी किया गया है। बीएमओ तोमर ने बताया अस्पताल के स्टाफ को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी मरीजा की जांच एवं उपचार मास्क लगाकर ही करें इसके अलावा आवश्यक सुरक्षा तथा सावधानियां बरतें। उन्होने बताया कि हम सतर्कता की दृष्टि से घर में तथा बाहर भी मास्क का उपयोग कर सकते हैं। टोल फ्री नंबर किया जारी कोरोना वायरस के संबन्ध में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा टोल फ्री नंबर भी जारी किया गया है। बीएओ तोमर ने बताया कि 104 टोल फ्री नंबर पर कोरोना वायरस संबन्धित जानकारी ली जा सकती है। उन्होने बताया कि किसी भी संदिग्ध व्यक्ति की यदि पहचान होती है तो उसका सैम्पल लेकर एम्स भोपाल भेजा जाएगा। जब तक सैम्पल के रिजल्ट नही आ जाते तब तक मरीज को आइसोलेशन में रखा जाएगा।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now