BREAKING NEWS

गांजा खरीदी की उधारी के 2 हजार नहीं देने पर उतारा था मौत के घाट

गांजा खरीदी की उधारी के 2 हजार नहीं देने पर उतारा था मौत के घाट
सारनी। छतरपुर गांव के पास हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में चोपना पुलिस ने सफलता अर्जित कर ली है। पुलिस ने हत्या के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। हत्या गांजा खरीदी की उधारी के 2 हजार रुपए के लेन-देन पर हुई। चोपना थाना प्रभारी गोविंद सिंह राजपूत ने बताया 23 अप्रैल को अज्ञात शव मिलने के बाद हत्या का प्रकरण कायम किया गया था। चूंंकि मामला पूरी तरह से अंधा था इसलिए एसपी डीएस भदौरिया, एडिशनल एसपी श्रद्धा जोशी और एसडीओपी अभयराम चौधरी के निर्देशन में एक टीम तैयार की गई। तकरीबन 21 दिनों की पड़ताल के बाद पुलिस ने आरोपी संदीप पिता गोवलू धुर्वे (28), जगना पिता चुन्नीलाल इवने (35) दोनों निवासी केरिया उमरी थाना सारनी को गिरफ्तार किया। आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया। आरोपी संदीप धुर्वे के मेमोरेंडम पर संदीप से घटना में प्रयुक्त कपड़े , चाकू , व मृतक की मोटरसाइकिल जब्त की। व आरोपी जगना के मेमोरेंडम पर जगना से कपडे डंडा जब्त कर दोनों को विधिवत गिरफ्तार किया गया। अंधे कत्ल के लिए अधिकारियों ने एक अनुसंधान टीम गठित की। जिसमे टीम प्रभारी विवेचक उप निरीक्षक गोविंद सिंह राजपूत, प्रधान आरक्षक इश्त्याक अली, आरक्षक सौरभ राजौरिया, रोहन उइके, सतीश वाडिवा, महेश इवने, सतीश चौरे, मनीष खराडी, सेवलाल कलमे, भीम चंचल, अभिषेक (चौकी पाथाखेडा) भूपेन्द्र पटेल (थाना सारनी), विनोर ने आरोपियों को गिरफ्तार किया। फसल में गांजा लगाकर करते थे तस्करी आरोपी संदीप धुर्वे, जगना इवने ने पूछताछ पर बताया उनके पास करीबन 5-6 एकड़ जमीन है। उसी जमीन पर हम लोग खेती किसानी करते हैं। हम लोग बरसात में भुट्टाबाड़ी में गॉजे का बीज डाल देते है। सूखने पर उसे तोड़कर रखकर बेचते रहते हैं। रामचरण उर्फ राजाराम जो सारनी का रहने वाला है वह मेरे घर से हमेशा गांजा बेचने के लिए खरीदकर ले जाता है। रामचरण शिवरात्रि पर 3000 रुपए का गांजा लेकर गया था। उसमें से मुझे 1000 रुपए दिया था और 2000 रुपए बाद में देने को कहा था। फिर वह बाद में भी मेरे गांव में आया था। रुपए नहीं दिए। वह 23 अप्रैल को को सुबह करीबन 7 बजे केरिया उमरी में आया था। इस दौरान जगना और संदीप ने बताया गांव से छतरपुर तरफ जा रहा था तो रामचरण गांव के रोड पर रास्ते में ही मिल गया। वहां पर तीनों ने बैठकर गांजा पिया। मनकाढाना में गांजा सस्ता मिलने का कहकर उसे लेकर दोनों उस ओर चले गए। रामचरण की मोटरसाईकल टीवीएस विक्टर से चोपना के पास जम्मूदीप देवस्थान पर तीनों चले गए। वहा पर पहाड़ी पर जाकर भी तीनों ने गांजा पिया। संदीप ने रामचरण को बोला मेरे 2000 रुपए कब देगा। इसी बात को लेकर गाली गलौज हो गई। जगना ने रामचरण के सिर मे वहां पास मे पडे बांस उठाकर उसके सिर मे 3-4 बार ताकत से मारा। वह घायल होकर नीचे गिर गया। यहां उसके सिर पर पत्थर मारा और चाकू से गला काटकर उसकी हत्या कर दी।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now