BREAKING NEWS

गुरूपूर्णिमा पर दादाजी कुटी में नहीं बटेंगा तिक्कड़ का प्रसाद

गुरूपूर्णिमा पर दादाजी कुटी में नहीं बटेंगा तिक्कड़ का प्रसाद
श्रद्धालुओं से घर पर ही पूजा अर्चना की अपील बैतूल। 4 जुलाई को गुरूपूर्णिमा का पर्व आस्था और उत्साह के साथ मनाया जाऐंगा, लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के चलते सार्वजनिक एवं धार्मिक आयोजन पर प्रतिबंध है इसीलिए गुरूपूर्णिमा पर दादाजी कुटी में भक्तों का मेला देखने को नहीं मिलेगा। दादाजी भक्तों ने भी सभी भक्तों से अपील की है कि 4 जुलाई को अपने-अपने घरों में पूजन करें। बैतूल में दादाजी कुटी खंजनपुर में गुरू पूर्णिमा पर हजारों श्रद्धालुओं का मेला लगता था, लोग पूजा अर्चना करने दूर-दूर से पहुंचते थे, लेकिन इस बार दादाजी कुटी के पट बंद है और यहीं वजह है कि गुरूपूर्णिमा पर ना तो निशान चढ़ेगा और ना ही भक्तो को तिक्कड़ चटनी का प्रसाद मिल पाऐंगा। इस संबंध में दादाजी कुटी से जुड़े प्रवीण भावसार का कहना है कि शासन के निर्देशों के तहत 1 जुलाई से 10 जुलाई तक मंदिरों के पट बंद रहेंगे। 4 जुलाई को गुरू पूर्णिमा है लोग अपने ही घरों में पूजन करें। उन्होंने सभी दादाजी भक्तों से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार की धार्मिक यात्रा, जुलूस या निशान यात्रा ना निकाले। घरों में ही पूजा अर्चना करें। उल्लेखनीय रहे कि दादाजी कुटी खंजनपुर में गुरूपूर्णिमा के अवसर पर जिले सहित आसपास के जिलों से बड़ी संख्या में लोग दादाजी कुटी पहुंचते थे। इस दिन यहां मेला सा लग जाता था, निशान चढ़ाने के साथ-साथ दिन भर धार्मिक आयोजन होते थे, शाम को महाआरती के पश्चात तिक्कड़ चटनी का प्रसाद बाटा जाता था, जिसे लेने के लिए एक-एक किलो मीटर तक लंबी लाईन लगा करती थी, लेकिन इस बार कोरोना वायरस के चलते श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं जुटेंगी।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now