BREAKING NEWS

ग्रामीणों ने श्रमदान कर बना डाली सड़क

ग्रामीणों ने श्रमदान कर बना डाली सड़क
आमला। साथी हाथ बढ़ाना, एक अकेला थक जायेगा मिलकर बोझ उठाना... फि ल्मी गीत से प्रेरणा लेकर आज आदिवासी बाहुल्य ग्राम भोण्डदेही के ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग से अपने गांव तक जाने वाले पंहुच मार्ग पर श्रमदान किया। मंगलवार सुबह ग्रामीण फ ावड़ा, तगाड़ी, गंैची लेकर सड़क पर पंहुच गये और श्रमदान करते हुऐ सड़क पर मुरूम पत्थर बिछाये। अपने गांव तक पंहुच मार्ग चलने लायक हो इसके लिए नन्हे मुन्ने बच्चों ने भी श्रमदान किया। ग्रामीणों के कठोर परिश्रम के चलते फि लहाल सड़क कुछ चलने लायक हो गई है पर ग्रामीणों ने एक बात और कह दी कि आगामी दिनों में किसी भी जनप्रतिनिधि को हमारे गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा और यदि सड़क नहीं बनी तो आगामी विधानसभा चुनाव का भी हम बहिष्कार करेंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत लिखड़ी के ग्राम भोण्डदेही जिसकी जनसंख्या पांच सैकड़ा से अधिक है उस गांव तक पहुंचने के लिए कोई भी सड़क मार्ग नहीं है। ग्राम छिपन्यापिपरिया जोड़ से ग्राम भोण्डदेही की दूरी 3 कि.मी. से अधिक है बारिश के दिनों में यह सड़क पूरी तरह से दलदल में तब्दील हो जाती है जिससे आवागमन बंद हो जाता है और स्कूली छात्रों को भी दिक्कतें होती है। ग्रामीणों ने बताया कि हमारे ग्राम में सिर्फ प्राथमिक स्तर तक स्कूल है उसके आगे पढऩे के लिए बच्चों को ग्राम छिपन्या या लिखड़ी जाना पड़ता है। बारिश के दिनों में बच्चें स्कूल नहीं जा पाते। स्कूली छात्रा सपना ने बताया कि बारिश में कोई भी बच्चा स्कूल नहीं जा पाता है कैसे जाएंगे सड़क पर कीचड़ ही कीचड़ रहता है। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम भोंण्डदेही से सभी कामों के लिए दूसरे ग्रामों में जाना पड़ता है और एक अकेला पंहुच मार्ग है जो कि दलदल में तब्दील हो गया है। सिर्फ भोण्डदेही की ही नहीं है समस्या ग्राम छिपन्या पिपरिया से ग्राम भोण्डदेही की ओर जो पंहुच मार्ग जाता है उसके कारण सिर्फ भोण्डदेही के ही ग्रामीण परेशान नहीं है उसके आगे ग्राम बिजरटा पड़ता है यहां की जनसंख्या भी दो सैकड़ा से अधिक है। इस पंहुच मार्ग के दलदल में तब्दील हो जाने के कारण बिजरटा आने जाने का रास्ता भी बंद हो जाता है। जनप्रतिनिधियों से लगाई गुहार ग्रामीणों ने बताया कि कई बार जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई, अधिकारियों के समक्ष भी समस्या रखी पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। अब हमने श्रमदान करके सड़क को चलने लायक बनाया है लेकिन अब किसी भी जनप्रतिनिधि की हमें कोई आवश्यकता नहीं है। ग्रामीण आशाराम ने बताया कि यदि सड़क नहीं बनी तो आगामी विधानसभा चुनाव का भी हम बहिष्कार करेंगे। पीछे नही हटेंगे कदम ग्रामीण प्यारेलाल उइके, रूपन उइके, आशाराम उइके, बिखारी भलावी, यूवराज भलावी, भद्दू भलावी, सुनेरी यादव, सुरजलाल यादव, जेठू उइके, सुखदास भलावी, रमेश उइके, आदि ने बताया कि हमारे कदम हम पीछे नही हटाने वाले । जल्द सभी ग्रामीण मिलकर एक बड़ा प्रदर्शन भी करेंगे। नहीं हो सकी बात इस विषय में जब क्षेत्रीय विधायक डॉ. योगेश पण्डाग्रे से चर्चा करनी चाही गई तो विधायक ने फ ोन रिसीव नहीं किया।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now