BREAKING NEWS

घर-घर हुआ लक्ष्मी पूजन-देर रात तक हुई आतिशबाजी

घर-घर हुआ लक्ष्मी पूजन-देर रात तक हुई आतिशबाजी
बैतूल। पिछले नौ महीने से कोरोना के खौफ के साए में जी रहे नागरिकों ने ज्योति पर्व दीपावली पर कोरोना के खौफ को पीछे छोड़ हर्षोल्लास और पूरी उमंग के साथ दीपावली पर्व मनाया। दीपावली के लगभग एक सप्ताह पूर्व से गुलजार हुए बाजार ने व्यापारियों को कोरोना काल में हुए नुकसान की काफी हद तक भरपाई कर दी वहीं नागरिकों ने भी प्रशासन के दिशा निर्देशों को दरकिनार कर आधी रात तक आतिशबाजी की। शहर के साथ ही जिले भर में दीपावली का पर्व पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। आज भाईदूज के साथ ही पांच दिवसीय दीपोत्सव का समापन होग। वैश्विक महामारी कोरोना के कारण लगभग ढाई माह तक लगे लॉकडाउन और उसके बाद अनलॉक होने पर भी प्रशासन की बंदिशों के कारण व्यवसाय प्रभावित रहा। लेकिन इस साल दीपावली पर्व के पूर्व खरीफ फसल पकने और कर्मचारियों के वेतन के साथ ही बोनस मिलने से बाजार में बूम आ गया। पिछले आठ नौ महीने से बंदिशों में रहे नागरिकों ने भी दीपावली के पूर्व जमकर खरीददारी की। दीपावली के पूर्व बाजार में आए बूम के बाद लोगों ने शनिवार को उत्साह के साथ दीपावली मनाई। दीपावली पर्व पर सुबह से ही महिलाओं ने घरों के आगे रांगोली बनाई वहीं घरों में पकवान बनाए गए। लोगों ने आकर्षक रोशनी से घरों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों की सजावट की। इस साल गेंदे के फूल लगभग 150 रूपए प्रति किलो थे जिससे लोगों ने आर्टिफिशियल फूलों से ही सजावट की। शाम तक हर घर के आंगन सुंदर रांगोली से सजकर दीपक की रोशनी में जगमगाने लगे। शाम होते ही बच्चों ने पटाखे फोडऩा शुरू कर दिए। लोगों ने शुभ मुहूर्त में अपने-अपने घर और प्रतिष्ठानों में माता लक्ष्मी, कुबेर और गणेशजी की पूजा अर्चना की। व्यापारियों ने बही खाते की पूजा कर खाते बदले। प्रशासन द्वारा इस बार रात दस बजे तक ही पटाखे चलाने की अनुमति दी थी। लेकिन नागरिकों द्वारा प्रशासन के निर्देशों को दरकिनार कर आधी रात तक आतिशबाजी की गई। शहर में मध्यरात्रि तक पटाखों की आवाज गूंजती रही वहीं आतिशबाजी से आंसमा रोशन होते रहा। दीपावली के दूसरे दिन रविवार को अन्नकूट और गोवर्धन पूजा का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। भाईदूज आज पांच दिवसीय दीपोत्सव के अंतिम दिन आज भाईदूज का पर्व मनाया जाएगा। आज भाई अपनी बहनों के घर पहुंचकर तिलक लगवाएंगे वहीं बहनों के घर ही भोजन करेंगे। भाईदूज के साथ ही पांच दिवसीय दीपोत्सव का समापन हो जाएगा।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now