BREAKING NEWS

चहुंओर गूंजे जयकारों के साथ विराजी माँ अम्बे

चहुंओर गूंजे जयकारों के साथ विराजी माँ अम्बे
मुुलताई। लंबे समय से नवरात्र की प्रतिक्षा कर रहे श्रद्धालुओं द्वारा शनिवार सुबह से लेकर शाम तक मां अंबे की प्रतिमा की स्थापना की गई वहीं घरों में घट बैठाए गए जिनका विधि-विधान से पूजन किया गया। शनिवार नवरात्र के प्रथम दिन नगर सहित ग्रामीण अंचलों में मां अंबे की प्रतिमा की स्थापना धूमधाम से की गई वहीं पंडालों में साज-सज्जा भी देर रात तक हुई। नगर के दुर्गा उत्सव मंडलों में पंडित के द्वारा मंत्रोच्चार के साथ प्रतिमाओं की स्थापना हुई। नगर का सबसे पुराना तरूण मित्र दुर्गाउत्सव मंडल में शाम को प्रतिमा की स्थापना हुई वहीं गुरूसाहब मंदिर, नेहरू वार्ड, फव्वारा चौक, बैतूल रोड, स्टेशन चौक, पुराना बेरियर नाका सहित विभिन्न स्थानों पर पूरे दिन प्रतिमाओं की स्थापना होती रही। इधर माता के भक्तों के द्वारा घरों में घट भी स्थापित किए गए जिनका नौ दिन विधि-विधान से पूजन उपरांत विसर्जन किया जाएगा। शनिवार नवरात्र प्रारंभ होते ही शीतला माता मंदिरों में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर जल चढ़ाया इसके अलावा ताप्ती मंदिर एवं मरही माता मंदिर सहित अन्य मंदिरों में भी पूजन एवं दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इधर मासोद रोड पर स्थित आष्टा ग्राम में प्राचीन काली माता मंदिर में भी पूरे क्षेत्र से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। आष्टा के काली माता मंदिर में नवरात्र को लेकर मंदिर की साज-सज्जा सहित श्रद्धालुओं के लिए भी व्यवस्था की गई। काली माता मंदिर में एैतिहासिक प्राचीन पाषाण की काली प्रतिमा है जिसके दर्शनार्थ जिले सहित अन्य जिलों से भी लोग पहुंचते हैं। नवरात्र में विशेष रूप से नौ दिनों तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now