BREAKING NEWS

जिले की पहली महिला स्टेशन मास्टर कोरोना से निपटने निभा रही भूमिका

जिले की पहली महिला स्टेशन मास्टर कोरोना से निपटने निभा रही भूमिका
बैतूल। लॉक डाउन के कारण अधिकांश कार्य बंद हैं और सुरक्षा कारणों से लोग घरों में ही हैं। परन्तु  आवश्यक सेवाओं से जुड़े  कर्मचारी संभावित खतरों के बावजूद भी राष्ट्र हित में अपने कर्तव्यों का निर्वाह कर रहे हैं। ऐसे ही कोरोना वॉरियर में से एक हैं आमला स्टेशन पर पदस्थ स्टेशन मास्टर कु.प्राची आनंद। प्राची को बैतूल जिले में पहली महिला स्टेशन मास्टर होने का भी सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उल्लेखनीय है कि लाक डाउन के कारण यात्री गाडिय़ों के रद्द होने के कारण बहुत से रेल कर्मचारियों की घर पर रहकर उपस्थित दर्ज हो रही है तो वहीं रेल कर्मचारियों की एक बड़ी टीम रात दिन मालगाडिय़ों के सुचारू संचालन में जुटी हुई है, जिससे आवश्यक सामग्रियों की आपूर्ति निर्बाध रूप से चलती रहे।  देश सेवा का मिला मौका कु.प्राची भी गाड़ी संचालन से जुड़ी अपनी जिम्मेदार को बखूबी अंजाम दे रही हैं। स्वास्थ्य खराब होने पर कुछ दिन अवकाश पर रहीं एवं स्वस्थ होते ही तुरंत कार्य पर उपस्थित हो गई। प्राची कहती हैं  कि इन हालातों में काम करते हुए देश सेवा का अवसर मिलना मेरा सौभाग्य है। भूगोल से स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त करने के बाद प्राची ने पूरी  मेहनत के साथ वर्ष 2018 में रेलवे में भर्ती होने के अपने सपने को साकार किया। 8 माह से आमला में है पदस्थ स्टेशन मैनेजर वीके पालीवाल ने अपने अधीनस्थ कार्य कर रही स्टेशन मास्टर प्राची के विषय में बताया कि प्राची आमला स्टेशन पर विगत आठ माह से कार्यरत हैं। रेल कर्मचारी हर परिस्थिति में सदैव ही पूरे समर्पण के साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हैं, परन्तु वर्तमान परिस्थितियों एवं जवाबदेही के अहसास ने उनका जज्बा और उत्साह दोगुना कर दिया है। श्री पालीवाल ने बताया कि मंडल रेल प्रबंधक सोमेश कुमार एवं अन्य अधिकारियों के नेतृत्व में संपूर्ण तकनीकी विभाग रेल संसाधनों का बेहतर रखरखाव सुनिश्चित कर रहे हैं। ट्रेनों के संचालन में जुटे अधिकारी-कर्मचारी वहीं पूरा फ्रंट लाइन स्टाफ स्टेशन मास्टर्स, लोको पायलट, गार्ड, टीएनसी, शंटिग मास्टर, पाइंट्समैन इत्यादि कर्मचारी माल गाड़ीयों के सुचारू संचालन में जुटे हैं। स्टेशन मास्टर कु. प्राची की अपनी जिम्मेदारियों के प्रति जागरूकता अत्यंत प्रशंसनीय है। सामान्य तौर पर कोरोना संकट में महिला कर्मचारीयों को कार्यमुक्त रखने के प्रयास किए जा रहे हैं, परन्तु कु. प्राची इस संकट के समय रेलवे एवं राष्ट्र सेवा करने के मिले सौभाग्य से खुद को अलग ना रखने का निवेदन कर अपने फर्ज का निर्वाह कर रही हैं। हम सभी को उन पर गर्व है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now