BREAKING NEWS

डागा फाउंडेशन की कोचिंग में पढऩे वालों ने बनाया कीर्तिमान

डागा फाउंडेशन की कोचिंग में पढऩे वालों ने बनाया कीर्तिमान
बैतूल। शिक्षा के क्षेत्र में डागा फाउंडेशन के 74 सेंटरों में अध्यनरत विद्यार्थियों ने इतिहास रचकर समूचे प्रदेश व जिला का नाम रोशन कर दिया है। कक्षा दसवीं में अध्ययनरत फाउंडेशन के 9 विद्यार्थियों ने 95 से अधिक अंक लेकर वर्चस्व कायम किया है। इन विद्यार्थियों को डागा फाउंडेशन की ओर से लैपटॉप प्रदान किए जाएंगे। डागा फाउंडेशन की डायरेक्टर श्रीमती दीपाली निलय डागा ने बताया कि विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाने के उद्देश्य से फाउंडेशन ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप देने की घोषणा की थी। विद्यार्थियों ने भी फाउंडेशन के चैलेंज को स्वीकार करते हुए उल्लेखनीय सफलता हासिल की है। माध्यमिक शिक्षा मंडल के आए परीक्षा परिणामों के बाद फाउंडेशन इन विद्यार्थियों को जल्द लैपटॉप प्रदान करेंगा। इन विद्यार्थियों को मिलेंगे लैपटॉप डागा फाउंडेशन के चैलेंज को स्वीकार करते हुए फाउंडेशन में अध्यनरत भरकावाडी सेंटर के विद्यार्थी गुलशन गोरिया ने 98 प्रतिशत, बैतूल गंज सेंटर की छात्रा निहारिका गावण्डे 98 प्रतिशत, सेहरा सेंटर योगिता गोस्वामी 97.75 प्रतिशत, जीन सेंटर आयूषी वर्मा 96.75 प्रतिशत, कोदारोटी सेंटर अंकुश गोहे 96.75 प्रतिशत, सदर सेंटर सानिया 96.75 प्रतिशत, भरकावाडी विवेक मोदेकर ने 95.25 प्रतिशत हासिल किए। इन सभी विद्यार्थियों को फाउंडेशन की ओर से लैपटॉप प्रदान किए जाएंगे। लेपटाप विजेता गुलशन गोरिया ने डागा निवास पर पहुंच कर डागा फाउंडेशन की डायरेक्टर श्रीमती दीपाली निलय डागा का आभार व्यक्त किया। गुलशन ने कहा कि नि:शुल्क कोचिंग के बगैर मेरा 98 प्रतिशत बनना संभव नही था । 3813 में से 3623 विद्यार्थी हुए उत्तीर्ण उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में फाउंडेशन की शुरुआत की गई थी। शुरुआत से ही बच्चों को उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान की जाती है तथा बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए सभी अध्यापकों द्वारा पूर्ण रूप से तैयारी करवाई जाती है। इसी का परिणाम है कि फाउंडेशन के 3813 में से 3623 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए है। फाउंडेशन के लिए यह गौरव की बात है कि हर वर्ष उनके विद्यार्थी प्रदेश में अपना व फाउंडेशन का नाम रोशन करते आए हैं। शिक्षा के साथ-साथ अन्य प्रतियोगिताओं में भी विद्यार्थी जिले का नाम रोशन कर रहे हैं। इन विद्यार्थियों ने कहा कि उनकी सफलता का श्रेय डागा फाउंडेशन और डायरेक्टर श्रीमती दीपाली निलय डागा को जाता है।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now