BREAKING NEWS

ताप्ती तट पर सफाई से बदली घाटों की सूरत

ताप्ती तट पर सफाई से बदली घाटों की सूरत
मुलताई। नगर के ताप्ती सरोवर पर चल रहे सफाई अभियान में लगातार लोग जुड़ रहे हैं और अब सफाई अभियान का असर देखते ही बन रहा है। घाटों पर पहले जहां गंदगी पसरी हुई थी, अब सफाई अभियान के बाद घाट साफ नजर आ रहे हैं। दर्जनों युवक रोजाना सफाई अभियान में शामिल होकर पसीना बहा रहे हैं और सरोवर के घाटों की सफाई कर रहे हैं। ताप्ती जन्मोत्सव के समीप आ जाने से ताप्ती प्रदक्षिणा मार्ग के सभी घाटों को साफ किया जा रहा हैं। जन-जन की आस्था का केंद्र मां ताप्ती सरोवर मां ताप्ती युवा बिग्रेड द्वारा चलाए जा रहे सफाई अभियान से अब दमक रहा हैै। बिग्रेड के युवाओं द्वारा पिछले पांच दिनों से लगातार सरोवर पर श्रमदान किया जा रहा है। युवाओं ने अभी तक एक दर्जन ट्राली से ज्यादा कचरा निकाल दिया है। इस अभियान को और आगे तक चलाए जाने की बात युवाओं द्वारा कही जा रही है। युवाओं ने बताया कि 27 जून को मां ताप्ती का जन्मोत्सव है। कोरोना काल के चलते इस बार श्रद्धालु बड़ी संख्या में मुलताई नहीं आ पाएंगे। सीमित संख्या में ही लोग मां का जन्मोत्सव मुलताई आकर मना पाएंगे। मां ताप्ती के जन्मोत्सव को देखते हुए युवाओं द्वारा सफाई अभियान को आगे बढ़ाकर हर घाट की सफाई करने का निर्णय लिया है। सफाई अभियान को सतत चलाते हुए सरोवर को गंदगी मुक्त किया जाएगा और सभी का इसमें सहयोग भी लिया जाएगा। युवाओं द्वारा चलाएं जा रहे इस अभियान की सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। इधर नगर पालिका द्वारा ताप्ती सरोवर के घाटों पर पुताई करवाई जाएगी और ताप्ती सरोवर की सजावट भी की जाएगी। अभी ताप्ती जन्मोत्सव का स्वरूप तय नहीं हो पाया है, लेकिन नगर पालिका द्वारा उक्त कार्य करवाएं जाएंगे। एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु शामिल होते है जन्मोत्सव जिले में मां ताप्ती का जन्मोत्सव धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हर साल मां ताप्ती के जन्मोत्सव के अवसर पर मुलताई में लगभग एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु शामिल होते हैं, लेकिन इस बार कोरोना के चलते जन्मोत्सव किस तर्ज पर मनाया जाएगा, यह साफ नहीं हो पाया है। प्रशासन द्वारा जल्द ही इसके लिए बैठक आदि ली जाएगी, उसके बाद सभी के सुझाव लेकर मां ताप्ती का जन्मोत्सव का स्वरूप तय किया जाएगा। प्रशासन द्वारा इस साल सादगी से जन्मोत्सव मनाने के संकेत दिए गए हैं। अतिक्रमण मुक्त नहीं हो पाया सरोवर का नाला ताप्ती सरोवर में जिस नाले से पानी आता है, उस नाले पर जमकर अतिक्रमण किया गया है। कुछ दबंगों के अतिक्रमण के आगे प्रशासन भी नतमस्तक हो गया है। पांच सालों से नपाई और सीमांकन का काम चल रहा है, लेकिन अभी तक अतिक्रमण नहीं हटाया गया है। ताप्ती का उक्त नाला कभी 15 फीट चौड़ा हुआ करता था, लेकिन अब यह नाला कहीं-कहां पांच फीट का बचा है। लोगों द्वारा लगातार नाले पर पक्का अतिक्रमण किया जा रहा है, लेकिन प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिससे अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद है। गंदा पानी कब आना होगा बंद ताप्ती सरोवर में स्टेशन रोड की ओर के नाले से बारिश का पानी आता है, लेकिन इस नाले पर कुछ लोगों ने अतिक्रमण कर मकान बना लिए हैं और कई लोगों ने अपने घरों के सीवर का पानी भी इसी नाले में छोड़ दिया है। जिससे बारिश के पानीे के साथ उक्त गंदा पानी भी सरोवर में आता है। जिससे ताप्ती भक्त दुखी और आक्रोशित है। पिछली परिषद द्वारा ताप्ती नाले से अलग सीवर लाईन प्रोजेक्ट तैयार किया था, लेकिन उसके लिए अभी तक प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पाई है। जिससे अभी तक गंदा पानी सरोवर में आ रहा है। लोगों ने जल्द से जल्द इस संबंध में प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now