BREAKING NEWS

निर्माणाधीन कुंआ धंसने से मलबे में दबे दो मजदूर

निर्माणाधीन कुंआ धंसने से मलबे में दबे दो मजदूर
मुलताई। प्रभात पट्टन मार्ग पर ग्राम अंभोरी में एक निर्माणधीन कुंआ धंसने से कुंए में कार्य कर रहे दो मजदूर मलबे में दब गए। सूचना पर पुलिस प्रशासन द्वारा पूरे दिन कुंए से मलबा निकालने का कार्य किया गया लेकिन शाम तक पूरा मलबा नहीं निकलने से मजदूर मलबे में ही दबे थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम अंभोरी में लक्ष्मण उर्फ लच्छु साहू के खेत में कुंआ निर्माण का कार्य चल रहा था जिन्होंने अमरावती घाट के अजीत बडख़ाने को कुंए का निर्माण ठेके पर दिया था। मंगलवार ठेकेदार अजीत अपने साथ घाट अमरावती से ही सुरेश पिता गोमा मनोट (40) एवं संदीप पिता कचरू मनोट (30) वर्ष गायकी को कुंए से मलबा निकालने लेकर पहुंचा। लगभग 8 बजे दोनों मजदूर कुंए में उतरे तथा मलबा निकालने का कार्य कर ही रहे थे कि कुंए के तीन ओर का मलबा कुंए में धंस गया एवं दोनों मजदूर मलबे में दब गए। ग्रामीणों द्वारा तत्काल इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को दी गई जिसमें प्रभात पट्टन चौकी प्रभारी दिनेश रावत ने मौके पर पहुंचकर जेसीबी से मलबा निकालवाने का प्रयास किया लेकिन समय कम होने से उन्होंने इसकी जानकारी मुलताई थाना प्रभारी मनोज सिंह तथा एसडीओपी नम्रता सोंधिया को दी गई। इधर सूचना मिलते ही एसडीएम सीएल चनाप, एसडीओपी नम्रता सोंधिया, थाना प्रभारी मनोज सिंह, नायब तहसीलदार सृष्टि शाह तथा याचिका परतेती, प्रभात पट्टन प्रभारी बीएमओ पल्लव अमृतफले सहित पुलिस एवं प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए तत्काल थाना प्रभारी मनोज सिंह ने पोकलैंड मशीन की व्यवस्था की जिसे एक ट्राले पर रख कर घटनास्थल पर लाया गया जिसके बाद धंसे हुए कुंए के एक साईड से खोद कर मलबा निकालने का कार्य प्रारंभ किया गया। कुंआ लगभग 35 फीट गहरा होने से दोपहर 12 बजे से पोकलैंड मशीन द्वारा कुंए से मलबा निकालने का कार्य प्रारंभ किया गया लेकिन शाम 6 बजे तक भी मलबा पूरा नही निकलने से दबे हुए मजदूरों को नही निकाला जा सका था। घटिया निर्माण के कारण धंसा कुंआ कुंए को बांधने में जमकर लापरवाही बरतने से कुंआ भरभरा का ढह गया। प्रथम दृष्ट्या कुंए में घटिया निर्माण सामग्री सहित गुणवत्ता विहिन निर्माण कार्य सामने ही नजर आ रहा था। कुंए को बांधने के लिए सीमेन्ट कांक्रिट की दीवार पतली थी जिसमें सरिया भी मानक स्तर का उपयोग में नही लाया गया था। कुंए के आसपास ही कुंए से निकला मलबा जमा होने के कारण दबाव के कारण पूरा कुंआ धंस गया जिससे उसमें काम करने उतरे मजदूर दब गए। पूरा दिन घटनास्थल पर मौजूद रहा पुलिस प्रशासनिक अमला इधर घटना की सूचना के बाद से ही पुलिस तथा प्रशासनिक अमला मौके पर डटा रहा, शाम 6 बजे तक भी मलबा पूरा नही निकालने से कार्य जारी था। इधर घटना की सूचना मिलते ही नरखेड़ सहित अंभोरी के ग्रामीणों की भीड़ लग गई। लाक डाऊन होने के कारण पुलिसकर्मियों द्वारा बार-बार भीड़ को हटाया जा रहा था लेकिन इसके बावजूद ग्रामीणों की भीड़ लगातार बढ़ रही थी। शाम तक बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ घटना स्थल के आसपास जमा हो गई थी। 28 वर्ष पूर्व भी इसी कुंए में हुई थी एक मौत लक्ष्मण साहू के खेत में बने वर्षों पुराने कुंए के पुननिर्माण के दौरान दो मजदूर दब गए लेकिन लगभग 28 वर्ष पूर्व भी उसी कुंए में एक मौत हो चुकी है। ग्रामीण विजय माकोड़े ने बताया कि 28 वर्ष पूर्व कुंए में लगी मोटर निकालने के दौरान ग्रामीण नारायण देशमुख की कुंए में गिरने से मौत हो चुकी है जिसके 28 वर्ष बाद कुंए के नवनिर्माण के समय उक्त घटना हुई। शाम 6 बजे भी जारी था मलबा निकालने का कार्य इधर पूरे दिन मलबा निकालने के बावजूद शाम 6 बजे तक मलबा निकालने का कार्य जारी था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कुंआ लगभग 35 फीट गहरा होने तथा पूरा मलबा गिरने से अभी और समय लग सकता है। इधर कुंए में दबे मजदूरों के परिजन भी घटना स्थल पर पहुंच चुके थे तथा किसी अनहोनी के भय से लगातार आसपास के लोगों तथा अधिकारियों से पूछताछ कर रहे थे।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now