BREAKING NEWS

पुलिस प्रशासन सख्त- लोगों से घरों में रहने की लगातार की जा रही अपील

पुलिस प्रशासन सख्त- लोगों से घरों में रहने की लगातार की जा रही अपील
मुलताई । नगर में लाक डाऊन का प्रभावी रूप से पालन कराया जा रहा है जिससे सड़कें सुबह से लेकर रात तक सुनसान नजर आ रही है। लाक डाऊन के असर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब लोग स्वेच्छा से ही घरों में अंदर रहने लगे हैं जिससे पूरे नगर में सन्नाटा पसरा हुआ है। सुबह मात्र कुछ समय के लिए हलचल नजर आती है लेकिन इसके बाद पूरा दिन मानो खामोश हो जाता है। इधर पुलिस-प्रशासन द्वारा लगातार वाहनों से लोगों से घरों से नही निकलने की अपील की जा रही है जिसका असर भी अब दिखने लगा है। नगर में यदि इक्का-दुक्का वार्डों को छोड़ दें तो अन्य सभी वार्डों में लाक डाऊन का पूरी तरह पालन किया जा रहा है। लोगों की इस जागरूकता के कारण ही नगर में कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से जंग जीती जा सकती है। एसडीओपी नम्रता सोंधिया के अनुसार लोगों से लगातार अपील की जा चुकी है अब लोगों की जागरूकता ही उन्हे बचा सकती है। उन्होने कहा कि पुलिस के डंडे से एक हद तक ही नियमों का पालन कराया जा सकता है लेकिन जब तक लोग स्वयं जागरूक होकर नियमों का पालन नही करेगें तब तक पुलिस भी कुछ नही कर पाएगी। एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि नगर में नेहरू तथा गांधी वार्ड में लोगों को घरों में रहने की लगातार समझाईश के बावजूद लोग बाहर निकल रहे हैं जिसकी वजह से पूरा नगर प्रभावित हो सकता है। उन्होने बताया कि नगर के अन्य वार्डों में स्थिति बेहतर है तथा लोगों की जागरूकता की वाकई काबिले गौर है। उन्होने कहा कि पुलिस अपने स्तर पर पहले समझाने का ही प्रयास करती है जिसके बाद ही सख्त होना पड़ता है क्योंकि यह लोगों की ही सुरक्षा के लिए कहा जा रहा है। उन्होने कहा कि अब नियम और सख्त हो गए हैं इसलिए बाहर निकलने वालों पर सीधी एफआईआर की जा सकती है इसलिए लोगों को घरों में ही रहना जरूरी है ताकि इस जंग में हम जीत हासिल कर सकें। त्योहारों पर भी लोगों ने किया नियमों का पालन एसडीएम सीएल चनाप ने कहा कि पहले कुछ दिनों तक लोगों को घरों में रहने की लगातार समझाईश दी गई लेकिन अब लोग स्वयं जागरूक नजर आने लगे हैं। उन्होने कहा कि रामनवमी एवं हनुमान जयंती सहित शबे बारात पर्व पर लोगों का घरों में ही रहकर प्रार्थना करना यह साबित करता है कि लोग स्वास्थ्य के लिए जागरूक हो चुके हैं। उन्होने कहा कि इन प्रमुख पर्वों पर लोगों ने जहां घरों से बैठकर ही पूजन किया वहीं नमाज अता कर दुआएं भी मांगी गई। एसडीएम चनाप के अनुसार अभी वक्त बहुत नाजुक है इसलिए हमें नियमों का पालन स्वयं आगे आकर करना होगा। उन्होने कहा कि पुलिस प्रशासन के पास स्टाफ की एक लिमिट है जिसमें नगर सहित पूरा ग्रामीण अंचल कवर करना होता है इसलिए नागरिकों सहित ग्रामीणों का यह दायित्व है कि वे स्वयं जागरूक होकर नियमों का पालन करें।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now