BREAKING NEWS

फर्जी आदिवासी बनकर हड़प ली आदिवासियों की जमीन

फर्जी आदिवासी बनकर हड़प ली आदिवासियों की जमीन
बैतूल। इटारसी के रसाल परिवार द्वारा आदिवासियों की जमीन हड़पने के मामले में मंगलवार शाहपुर तहसील मुख्यालय पर आदिवासी समाज ने सामूहिक रूप से एकत्रित होकर नायब तहसीलदार रोहित विश्वकर्मा को ज्ञापन सौंपा। आवेदक मुंशीलाल, गजराज सिंह, ब्रजलाल ने बताया कि आर.टी.आई एक्टीविस्ट प्रमोद पगारे की शिकायत पर फर्जी आदिवासियों को तहसील न्यायालय शाहपुर में तलब किया गया था। आवेदकों का कहना है इटारसी के सराफा व्यवसायी सोहन रसाल, अशोक रसाल ने हलवा जाति का बताकर उनकी जमीन धोखाधड़ी अपने नाम करवा ली। आवेदकों का कहना है कि उन्हें विलंब से यह पता चला कि रसाल परिवार आदिवासी नहीं है और वह भू माफिया की तरह आदिवासियों की जमीन नकली आदिवासी बनकर खरीदते है। आवेदकों ने अनुविभागीय अधिकारी एवं नायब तहसीलदार से गुहार लगाते हुए राजस्व संहिता कानून के अनुसार जमीन वापस दिलाने की मांग की है। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कुमार सानू देवडिय़ा एवं नायब तहसीलदार रोहित विश्वकर्मा ने आदिवासियों को आश्वस्त किया कि प्रकरण उनके संज्ञान में है। जांच की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और वास्तविक स्थिति सामने आने पर न्याय मिलेगा। इस दौरान शाहपुर क्षेत्र के आदिवासी नेता राजा धुर्वे, डोडरा मोहर की सरपंच श्रीमती भागवती तुमराम, आदिवासी युवा नेता आकाश कुशराम, सचिन मेहरा, राहुल प्रधान, रजनीश इवने, प्रफुल्ल कुमरे, उपस्थित थे।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now