BREAKING NEWS

बेमौसम बारिश और कीचड़ से परेशान हुए पटाखा व्यापारी

बेमौसम बारिश और कीचड़ से परेशान हुए पटाखा व्यापारी
मुलताई। वर्षों बाद दीपावली पर मौसम खराब होने से त्योहार का मजा किरकिरा हो गया है। एक तरफ जहां लंबे समय से अच्छे व्यापार की आस लगाए व्यापारियों की उम्मीदों पर पानी फिर गया है, वहीं दो से तीन दिन का धंधा करने वाले फटाखा व्यापारी भी लाखों का माल स्टाक करने के बाद अब मौसम की मार का शिकार हो गए हैं। दीपावली के एक दिन पूर्व लगातार रिमझिम बारिश से राम मंदिर भूमि पर स्थित अस्थाई फटाखा बाजार में कीचड़ हो गया है जिसके कारण ग्राहक दुकानों में जाने से कतरा रहे हैं। इधर लगातार रिमझिम बारिश का असर फटाखों पर भी पड़ रहा है, सर्द मौसम के कारण लोग फटाखे खरीदने मे रूचि नहीं दिखा रहे हैं ऐसे में फटाखा व्यापारियों की हालत खराब नजर आ रही है। यदि ऐसे ही रिमझिम बारिश होती रही तो बड़ी संख्या में व्यापारियों के फटाखे बच जाएंगे तथा जिन व्यापारियों ने उधारी में फटाखे लाए हैं उन पर कर्ज चढ़ जाएगा। बारिश से परेशान फटाखा व्यापारी राजेश भार्गव, पवन जैन सहित अन्य व्यापारियों ने बताया कि फटाखे का व्यवसाय मात्र तीन दिनों का ही होता है लेकिन खराब मौसम के कारण अभी फटाखों की बिक्री चालू ही नही हुई है जिससे नाममात्र के ही फटाखे बिके हैं, अब धंधे के लिए सिर्फ एक ही दिन बचा है यदि उस समय भी बारिश हुई तो पूरा माल बच जाएगा जिससे उनके सामने समस्या खड़ी हो जाएगी। फिलहाल शनिवार पूरे दिन मौसम खराब रहा तथा रिमझिम बारिश होती रही जिससे एैसा लग रहा है कि दीपावली पर भी बारिश जारी रहेगी। व्यापारी स्वयं डाल रहे बजरी फटाखा बाजार में नगर पालिका द्वारा दुकानों के बीच में मात्र मुरूम ही डाली गई है लेकिन बारिश के चलते उक्त स्थल पर सभी ओर कीचड़ ही कीचड़ हो गया है। एैसे में ग्राहक उक्त स्थल पर तो पहुंच रहे हैं लेकिन दुकानों के सामने कीचड़ होने से समस्या हो रही है। फटाखा व्यापारी प्रभु सोनारे ने बताया कि नगर पालिका को दुकानों के सामने बजरी आदि डालना चाहिए लेकिन नपा द्वारा सिर्फ मार्ग पर मुरूम डालकर औपचारिकता पूर्ण कर दी गई है। इधर व्यापारी स्वयं अपने खर्च पर दुकानों के सामने बजरी तथा डस्ट आदि डाल रहे हैं ताकि उनकी दुकानों पर ग्राहक आ सके। व्यापारियों ने बताया कि जब नगर पालिका दुकाने लगाने का शुल्क वसूल करती है तो फिर सुविधाएं क्यों नही देती। व्यापारियों के अनुसार भारी मशक्कत के बाद दुकानदार जैसे-तैसे धंधा करते हैं लेकिन नगर पालिका द्वारा बिना सुविधाएं दिए ही शुल्क वसूला जाता है। मार्ग पर फंसी ट्राली फटाखा बाजार में दुकानदारों द्वारा दुकान के सामाने कीचड़ के कारण बजरी की ट्राली बुलाई लेकिन मार्ग पर भी कीचड़ होने के कारण बजरी भरी ट्राली पलट गई जिससे आवागमन में परेशानी बढ़ गई। ट्राली को निकालने के लिए व्यापारियों द्वारा भारी मशक्कत की गई तथा ट्राली खाली कराई गई।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now