BREAKING NEWS

बोर से निकल रहा ज्वलशील तरल पदार्थ

बोर से निकल रहा ज्वलशील तरल पदार्थ
बैतूल। बारिश में वॉटर लेवल बढऩे से धरती के अंदर की बहुत से ज्वलनशील पदार्थ ऊपर आ जाते हैं इसमें कच्चा तेल या फिर ज्वलशील पदार्थ भी शामिल हो जाते हैं। पानी के साथ इनकी भी मात्रा अधिक होने पर लोग इन्हें डीजल-पेट्रोल अथवा मिट्टी का तेल समझ लेते हैं जबकि यह ज्वलनशील पदार्थ होते हैं और बेहद कम मात्रा में धरती के ऊपर निकलते हैं। बेहद कम होती है पदार्थ की मात्रा अत्यधिक मात्रा नहीं होने की वजह से ही इनके सर्वे आदि कार्य भी नहीं होते हैं। गाहे-बगाहे इस तरह की सूचना उस क्षेत्र में अधिक मिलती है जहां पर जमीन के नीचे कोयला अधिक होता है। ऐसी ही एक सूचना सांईखेड़ा थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम चारबन में भी मिली है जहां एक बंद पड़े बोर से ज्वलनशील पदार्थ निकलने पर लोग इसे डीजल समझकर ले जा रहे हैं। ग्रामीणों की भीड़ को देखकर हालत यह हो गई है कि पुलिस ने पहुंचकर स्थिति देखी और लोगों को समझाईश दी। बंद से निकल रहा तरल पदार्थ साईंखेड़ा थाना क्षेत्र में आने वाले चारबन गांव के पास सेलगांव पंचायत में एक बन्द पड़ा बोर से तरल पदार्थ निकल रहा है जिसे ग्रामीण डीजल समझ रहे हैं। ग्रामीणों कुप्पी भरभरकर ले जा रहे हैं। गांव के लोगो का कहना है की पूरे दिन खड़े रहने पर भी उनका नम्बर नहीं लग रहा लोगो ने अपने डम्पर, ट्रैक्टर गाड़ी सबके टैंक फुल कर लिए है। खराब हो सकते हैं वाहन इस मामले में मैकेनिकों का कहना है कि ग्रामीण बोर से निकलने वाले तरल पदार्थ को डीजल समझकर यदि ट्रैक्टर, डंपर और अन्य गाडिय़ों के टैंकों में डाल रहे हैं तो इससे वाहन खराब हो सकते हैं। मैकेनिक सुरेश कुमार का कहना है कि तरल पदार्थ में पानी की मात्रा अत्यधिक है जबकि तरल पदार्थ डीजल नहीं है। क्योंकि डीजल प्राकृतिक नहीं होता है इसे बनाया जाता है। डीजल वाहनों में इस तरह का तरल पदार्थ डालने से वाहन खराब हो सकते हैं। पीएचई की टीम करेगी जांच साईंखेड़ा पुलिस को जब इसकी सूचना मिली टीआई रत्नाकर हिंग्वे और बैतूल से पीएचई विभाग की टीम मौके पर पहुंची है। टीम द्वारा जांच-पड़ताल करने के उपरांत रिपोर्ट सौंपी जाएगी। जबकि वर्तमान में बंद पड़े बोर जिसमें से तरल पदार्थ निकल रहा है वहां पर लोगो की भीड़ लगी हुई है। भारी बारिश के बाद भी लोग छाता लगाकर यहां खड़े है। लोग बोर के अंदर हाथ डालकर डीजल निकाल रहे है। इनका कहना... ग्राम चारबन में बन्द पड़े बोर से दो दिन पहले पानी बहना शुरू हुआ और उसके बाद से कच्चे तेल जैसा पदार्थ बहने लगा है जिसे ग्रामीणों ने देखा और उसके बाद लोगो की भीड़ यहां लग गई। तेल को भरकर ग्रामीण ले जा रहे थे। पुलिस मौके पर पँहुची है और लोगो को यंहा से दूर किया है बोर को निगरानी में लिया गया है। रत्नाकर हिंग्वे, टीआई, साईंखेड़ा

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now