BREAKING NEWS

भारत भारती के होस्टल बने आश्रय स्थल

भारत भारती के होस्टल बने आश्रय स्थल
बैतूल। कोरोना महामारी से उत्पन्न हुई परिस्थिति के कारण सम्पूर्ण देश में लॉकडाउन होने से अनेक लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया। ऐसे में सरकार और प्रशासन के साथ अनेक समाजसेवी संस्थाओं ने गरीबों व जरूरतमंदों को भोजन व अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध करवाई। आवागमन बन्द होने से प्रवासी मजदूरों के पैदल ही निकल जाने से जगह-जगह उनके लिए आश्रय स्थल बनाये गए। संकट में सहयोगी बनी संस्था इस संकटकालीन परिस्थितियों में जिले की अग्रणीय शैक्षिक व समाजसेवी संस्था अपने उपलब्ध साधनों, पूर्व छात्र व समाज के सहयोग से सभी मोर्चों पर जरूरतमंदों की सेवा में लगी है। संस्था ने पहले ही दिन से छात्रों के होस्टल को आश्रय स्थल बनाकर अपने द्वार प्रवासी मजदूरों के लिए खोल दिये हैं। जहाँ उनके निवास व भोजन का उचित प्रबन्ध किया जा रहा है। आश्रय स्थल में अभी तक जिला प्रशासन की सहमति से राजस्थान, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों के 95 मजदूर स्थायी व अल्प अवधि में आश्रयस्थल में ठहरे हैं। 8100 लोगों ने किया भोजन भारत भारती शिक्षा समिति द्वारा ग्राम जामठी के दुर्गा वार्ड में जहाँ बैतूल शहर के विस्थापित 65 परिवार रहते हैं वहाँ 4 अप्रैल से प्रतिदिन भोजनशाला प्रारम्भ की गई जिसमें एक माह में 8100 लोगों ने भोजन किया है। प्रतिदिन सड़क मार्ग से पैदल व विभिन्न साधनों से जाने वाले मजदूरों व जामठी, सोनाघाटी क्षेत्र में जरूरतमंदों को प्रतिदिन भोजन के पैकेट दिए गए। अभी तक दस हजार से अधिक भोजन के पैकेट वितरित किये गए हैं। 500 ली. दूध और 1 हजार ली. मही का वितरण संस्था की ओर से साढ़े छ: क्विंटल गेहूँ, साढ़े तीन क्विंटल चावल, 200 क्विंटल से अधिक जैविक सब्जी, 500 लीटर दूध व एक हजार लीटर से अधिक मही का वितरण भी आसपास के ग्रामों में जरूरतमंदों में किया गया । लगभग 100 क्विंटल जैविक सब्जी बैतूल में गरीबों के लिए चलाई जा रही दीनदयाल रसोई को प्रदान की गई। भारत भारती शिक्षा संस्थान द्वारा 22 मार्च से ही नि:शुल्क चलाये जा रहे चिकित्सालय में अभी तक 231 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनकी प्राथमिक चिकित्सा की गई। 55 दिनों से जुटे कार्यकर्ता संस्था द्वारा चलाये जा रहे इन सेवा कार्यों में 55 कार्यकर्ता दिन-रात जुटे हैं। इनमें समिति पदाधिकारी, आचार्य परिवार, पूर्व छात्र व सामाजिक कार्यकर्ता सम्मिलित हैं। संस्था के सचिव ने बताया कि जब तक कोरोना संकट काल रहेगा तब तक संस्था समाज के सहयोग व अपने उपलब्ध साधनों से सेवा कार्य करती रहेगी।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now