BREAKING NEWS

मंडीदीप से पैदल चलकर सलैया पहुंचे 15 लोग

मंडीदीप से पैदल चलकर सलैया पहुंचे 15 लोग
सारनी। कोरोना के लॉक डाउन के कारण भोपाल और मंडीदीप में फंसे युवा पैदल ही सारनी तक पहुंच गए। प्रशासन ने इन्हें सारनी में भोजन कराकर छिंदवाड़ा जिले की सीमा तक पहुंचाया। यहां बसे ग्राम खैरवानी के पंचायत भवन में इनके रहने की व्यवस्था की गई है। लॉक डाउन के कारण भोपाल में अधिकर शिक्षण संस्थान बंद हो गए हैं। इस कारण छिंदवाड़ा और सिवनी जिले के ग्रामीण अंचलों के कई छात्र भोपाल में फंस गए थे। वे कहीं लिफ्ट लेकर तो कहीं पैदल ही सलैया तक आ गए। इनमें से कुछ भोपाल से निकले हैं तो कुछ मंडीदीप के फैक्ट्रियों में काम करते हैं। सलैया में जनपद पंचायत सीईओ दानिश अहमद खान और तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा ने इन्हें देखा। इसके बाद इनके लिए एक वाहन की व्यवस्था कराई गई। सलैया में नाश्ता कराने के बाद उन्हें सारनी के न्यू वेलफेयर सेंटर लाया गया। यहां उनकी जानकारी जुटाई गई। अधिकतर युवाओं के मेडिकल टेस्ट किए जा चुके हैं। युवा सारनी की बजाया छिंदवाड़ा जिले तक जाना चाहते थे। प्रशासनिक अधिकारियों ने छिंदवाड़ा के अधिकारियों को फोन पर सूचना दी। इसके बाद उन्हें खैरवानी के पंचायत भवन तक पहुंचाया गया। इस दौरान सारनी में समाजसेवी सुनील भारद्वाज ने उनके लिए भोजन की व्यवस्था की। एसडीओपी एआर चौधरी, टीआई महेंद्रसिंह चौहान भी यहां पहुंच गए थे। ट्रक की सहायता से इन्हें छिंदवाड़ा जिले की सीमा तक पहुंचाया। युवा यहां से अपने साधनों से गांव पहुंच जाएंगे। लॉक डाउन तोडऩे पर पहला केस पाथाखेड़ा में दर्ज लॉक डाउन के दौरान नियमों को तोडऩे वाले एक व्यक्ति पर पाथाखेड़ा पुलिस ने केस दर्ज किया है। पाथाखेड़ा चौकी प्रभारी नितिन पाल ने बताया बस स्टैंड के पास रहने वाला नंदू वर्मा लॉक डाउन की सख्तियों को तोड़ रहा था। इसके खिलाफ धारा 188 (प्रतिबंध का उल्लंघन) और 279 (संक्रमण फैलाने का खतरा) के तहत केस दर्ज किया गया है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now