BREAKING NEWS

महाराष्ट्र से आ रहे मजदूरों से बढ़ सकती है परेशानी

महाराष्ट्र से आ रहे मजदूरों से बढ़ सकती है परेशानी
मुलताई। मुलताई महाराष्ट्र सीमा से लगा होने के कारण प्रतिदिन लगातार महाराष्ट्र से मजदूर नगर सीमा में आ रहे हैं। एैसी स्थिति में नगर में लाक डाऊन यथावत रहना आवश्यक है। इधर अधिकारीगण बाहर से लगातार आ रहे लोगों को क्वारंटीन करने में लगे हुए हैं लेकिन यह तय कर पाना मुश्किल हो रहा है कि आगे कौन संक्रमित हो सकता है। मंगलवार जहां घाट बिरोली में 64 मजदूर गुजरात से पहुंचे हैं वहीं बुधवार पुणे से लगभग 40 मजदूर गौनापुर चौकी की ओर से सीमा में प्रवेश कर चुके हैं जिनका स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्क्रीनिंग किया गया है। इस संबंध में प्रभात पट्टन के प्रभारी बीएमओ डा.पल्लव अमृतफले ने बताया कि प्रतिदिन महाराष्ट्र की ओर से बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं जिनकी स्क्रीनिंग कराने के बाद उन्हे गांवों में क्वारेंटीन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्क्रीनिंग करने के बाद होम क्वारंटीन तो किया जा रहा है लेकिन यदि वह संक्रमित है तो इसका पता 14 दिनों के बाद ही चलेगा। इधर मुलताई क्षेत्र महाराष्ट्र सीमा से सटा होने के कारण नगर के अधिकारीगण अपने उच्चाधिकारियों से मार्गदर्शन ले रहे हैं। पूरे मामले में एसडीएम सीएल चनाप ने बताया कि बैतूल से मुलताई की स्थिति एकदम अलग है क्योंकि मुलताई क्षेत्र से बड़ी संख्या में ग्रामीण महाराष्ट्र काम करने जाते हैं जो फिलहाल लगातार वापस आ रहे हैं एैसी स्थिति में मुलताई क्षेत्र में विशेष तौर पर सतर्कता बरतना आवश्यक है। उन्होने बताया कि नगर में लाक डाऊन के दौरान आंशिक छूट देने में लगातार नियमों का उल्लंघन किया गया है इसलिए फिलहाल मुलताई क्षेत्र में लाक डाऊन को आगे बढ़ाना आवश्यक है। जंगलों से भी गांवों में पहुंच रहे मजदूर मुलताई क्षेत्र में महाराष्ट्र सीमा से बड़ी संख्या में मजदूर आ रहे हैं जिसमें जो मुख्य मार्ग से आ रहे हैं वे प्रशासन की नजर में है तथा उनके स्वास्थ्य की जांच कर क्वारंटीन भी किया जा रहा है। लेकिन बड़ी संख्या में मजदूर जंगलों के रास्ते से गांवों में रातों रात प्रवेश कर रहे हैं जिनकी जानकारी प्रशासन को भी नही है एैसी स्थिति में मुलताई क्षेत्र की स्थिति बिगड़ सकती है। बताया जा रहा है कि पांढूर्णा तथा पट्टन की ओर से बड़ी संख्या में पैदल मार्ग से लोग मुलताई क्षेत्र के गांवों में पहुंच रहे हैं यदि एैसे में बिना जांच के कोई संक्रमित पाया गया तो स्थिति अत्यंत खराब हो सकती है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now