BREAKING NEWS

रंगपंचमी पर खूब उड़ा रंग गुलाल

रंगपंचमी पर खूब उड़ा रंग गुलाल
मुलताई। इस वर्ष कोरोना वायरस के भय से प्रतिवर्ष धूमधाम से मनाई जाने वाली रंग पंचमी फीकी रही। पंचमी पर अधिकांश लोग घरों में ही रहे तथा सड़कों पर सिर्फ युवा वर्ग ही नजर आया। कोरोना वायरस का फिलहाल इतना भय बन चुका है कि लोगों ने रंग पंचमी पर अपने घरों में ही रहना ज्यादा सुरक्षित समझा इसलिए जैसी धूम हर वर्ष नगर में पंचमी पर मचती थी वह कहीं नजर नही आई। दोपहर से प्रारंभ हुआ रंग-गुलाल शाम तक समाप्त हो गया तथा शनिवार बाजार बंद होने के बावजूद दुकानें खुलने लगी एवं सब्जी बाजार भी यथावत लगा। हालांकि रंग पंचमी पर युवाओं एवं बच्चों ने रंग-गुलाल उड़ाया तथा कहीं डीजे से तो कहीं बाजे गाजे के साथ युवा वर्ग रंग उड़ाता हुआ सड़कों पर भी निकला। दोपहर के बाद बैतूल रोड, नागपूर रोड, बसस्टेंड, फव्वारा चौक सहित स्टेशन चौक पर युवा लोग एक दूसरे को रंग लगाते नजर आए। इस दौरान चौक-चौराहों पर सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस व्यवस्था चाक-चौबंद रही। कहीं डीजे की धुन पर युवाओं ने जमकर धमाल मचाया तो कहीं बच्चों ने पिचकारियों से खूब रंग एक दूसरे पर फेंका। इधर पांच बजे के बाद रंग खेलना बंद हो गया तथा लोग घरों के बाहर निकलने लगे, शाम तक रंग पंचमी का माहौल पूरी तरह समाप्त हो गया तथा बाजार में भी लोगों की भीड़ नजर आने लगी। सीएमओ ने बजाई ढोलक कर्मचारियों ने गाए फाग इधर रंग पंचमी पर नगर पालिका में होली मिलन समारोह आयोजित किया गया जिसमें अधिकारियों सहित कर्मचारीगण शामिल हुए और रंगों से सराबोर हुए। इस दौरान सीएमओ राहुल शर्मा ने नपा परिसर में रंग गुलाल खेलते हुए ढोलक पर थाप दी तथा कर्मचारियों ने भी एक से बढ़कर एक फाग गाए। अधिकारियों एवं कर्मचारियों की होली देखने के लोग एकत्रित हुए तथा सभी ने जमकर हुड़दंग मचाया। कर्मचारियों ने बताया कि रंग पंचमी पर होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया था जिसमें नगर पालिका का पूरा स्टाफ शामिल हुआ। सभी लोगों ने गाजे बाजे के साथ फाग गाते हुए रंग गुलाल खेला तथा रंग पंचमी का पूरा लुत्फ उठाया। कोरोना वायरस की चेतावनी से पड़ा प्रभाव विगत कुछ दिनों से समाचार पत्रों सहित न्यूज चैनलों पर कोरोना वायरस को लेकर आ रही चेतावनियों का खासा प्रभाव रंग पंचमी पर देखने को मिला। रंग पंचमी पर अधिकांश लोगों ने एक दूसरे से मिलने से परहेज किया वहीं सार्वजनिक स्थलों पर शामिल होने में भी कोताही बरती। इधर नागपूर में कोरोना वायरस की सुगबुगाहट के चलते मुलताई में इसका प्रभाव साफ नजर आया। खबरों में भी लगातार कोरोना वायरस को लेकर सावधानियां बताने से लोगों ने रंग पंचमी पर रंगों से भी तौबा करने में ही अपनी खैरियत समझी। कुल मिलाकर हर वर्ष की तरह इस वर्ष कोरोना वायरस के कारण रंग-गुलाल फिकी रहा।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now