BREAKING NEWS

राशन के लिए परेशान हो रहे गरीब

राशन के लिए परेशान हो रहे गरीब
आमला। शासन द्वारा समय समय पर निर्देश जारी किये जा रहे है कि ऐसे परिवार जिनके पास बीपीएल, अंत्योदय का राशनकार्ड है लेकिन फूड कूपन नहीं है तो भी उन्हें शासकीय उचित मूल्य दुकानों से राशन दिया जायेगा। आमला ब्लॉक में शासन के इन निर्देशाों की अनदेखी की जा रही है। अधिकांश उचित मूल्य दुकानों से बिना कूपने के राशन नहीं मिल पा रहा है। जिससे गरीब परिवार हैरान परेशान है और तो और ऐसे परिवार जिनको वाकई में राशन की जरूरत है वे अधिकारियों के चक्कर लगा रहे है। अधिकारी है कि उनसे सीधे मुंह बात ही नहीं करते। दो दिन पहले नगर के वार्ड क्रमांक 10 के विद्युत वितरण कंपनी के कार्यालय के सामने निवास करने वाले एक दर्जन से अधिक परिवार तहसील कार्यालय पंहुचे और तहसीलदार को अपनी समस्या बतानी चाही पर तहसीलदार ने भी उनसे सीधे मुह बात नही की। महिला प्रियंका टिटवारे ने बताया कि हमें राशन नहीं मिल रहा है। मंजू बंशकार ने बताया कि राशन न मिलने से हमें भी काफ ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बबीता बामने ने बताया कि पिछले चार माह से कोई काम धंधा शुरू नहीं है हमे जानकारी मिली थी कि जिनके पास कूपन नहीं है उन्हे भी राशन मिलेगा पर हमे सोसायटी से राशन नहीं दिया जा रहा है। राशन न मिलने से लक्ष्मी उइके भी हैरान परेशान है लक्ष्मी ने कहा कि हमारे पास बीपीएल का राशन कार्ड तो है पर हमें राशन के लिए भटकना पड़ रहा है। एक दर्जन से अधिक महिलाऐं ने प्रशासन से मांग की है कि हमें राशन दिलवाया जाय और हमेशा की झंझट से बचने के लिए पात्रता पर्ची भी उपलब्ध करवाई जाय। 6 लोगो का परिवार हो रही दिक्कत इस क्षेत्र की कलाबाई ओझा ने बताया कि मेरे परिवार में 6 लोग है हमें सोसायटी से राशन नही दिया जा रहा है और न ही कोई मदद कर रहा है ऐसे में हम अपना पेट कैसे पाले? कही कोई सुनवाई नही हो रही है। बिना मां-बाप के बच्चें भी हो रहे परेशान 11 वर्षीय मुस्कान से जब चर्चा की गई तो उसका चेहरा उतर गया। उसने कहा कि हमारी मां हमें छोड़कर कही चली गई है। हम 6 भाई बहन है हमें राशन नही मिल रहा है क्या खाये? कहां जाये? समझ नहीं आता। गरीबों को राशन के पैकेट बांटकर लोगो ने खूब फोटो खिचवाई लेकिन नगर के वार्ड क्रमांक 10 की 11 वर्षीय मुस्कान अब भी परेशान है उनकी सहायता अभी तक न तो शासन प्रशासन कर पाया और न ही स्वयं सेवी संस्थाओं ने इनकी सहायता करने में कोई रूची दिखाई। इनका कहना... महिलाओं ने ज्ञापन सौंपा है, हमने फू ड इंसपेक्टर को पत्र लिखा है। आगे की कार्यवाही उनके द्वारा की जानी है। - नीरज कालमेघ, तहसीलदार, आमला। अभी फूड कूपन के लिए निर्देश जारी हुए है। प्रक्रिया में है जब तक प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती तब तक इन्हे राशन दिलवाना संभव नहीं है। राजेश श्रीवास्तव, खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी। हमारी संस्था द्वारा इन परिवारों की पहले भी सहायता की गई थी। आज भी उन्हें राशन उपलब्ध करवाया गया है। साथ ही उनकी समस्या का निराकरण हो सके इसके लिए तहसीलदार महोदय और नगरपालिका में भी चर्चा की गई है। आराधना मालवी, अध्यक्ष, सुष्मा महिला एवं बाल विकास समिति आमला।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now