BREAKING NEWS

लापरवाही बनी फिर से लॉकडाऊन का कारण

लापरवाही बनी फिर से लॉकडाऊन का कारण
बैतूल(कृष्णकांत आर्य)। जिले में 22 मार्च से चल रहे लॉक डाउन से छूट देते हुए जिला आपदा प्रबंध समिति में चर्चा के बाद कलेक्टर द्वारा 5 मई को जिलेवासियों की बड़ी छूट दी थी। जिले के नगरीय क्षेत्र में सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे से मार्केट की दुकाने खोलने की अनुमति दी थी। दो दिन पूर्व इसे एक घंटा और अधिक बढ़ाकर 10 बजे से कर दिया था लेकिन लगता है जिलेवासियों को यह छूट रास नहीं आई। नागरिकों को ऐसे लगा कि हम कोरोना से जंग जीत गए है। छूट देना प्रशासन की मजबूरी है। अधिकतर लोग बाजार में टूट पड़े जिन्हें जरूरी काम था वे भी और जिन्हें नहीं था वे भी। दुकानदारों ने भी सोशल डिस्टेंस का पालन करवाने दुकानों के सामने गोले बनाकर अपने कत्र्तव्यों की इतिश्री कर ली। युवा वर्ग बेवजह दोपहिया और चौपहिया वाहनों से फर्राटे भरने लगे। लोग सोशल डिस्टेंस भूलकर स्वयं अपनी जान जोखिम में डालने लगे। नागरिक यह नहीं समझ पाए सोशल डिस्टेंस का पालन करना मजबूरी नहीं बल्कि स्वयं के लिए जरूरी है। एक सप्ताह में ही बाजार में भीड़ उमडऩे लगी, सड़क पर वाहनों की आवाजाही बढ़ गई जिससे प्रशासन के सामने दोबारा लॉक डाउन लगाने के अतिरिक्त कोई चारा नहीं बचा। कलेक्टर द्वारा 13 मई से जिले में फिर लॉक डाउन लगा दिया है जिसकी पूरी जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ जनता की है। यदि जनता प्रशासन द्वारा जरूरी कार्यो के लिए दी गई छूट का दुरूपयोग नहीं करती, सोशल डिस्टेंस का ईमानदारी से पालन करती तो शायद हमारे जिले में लॉक डाउन नहीं लगता।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now