BREAKING NEWS

लो वोल्टेज और ट्रिङ्क्षपग की समस्या को लेकर विद्युत वितरण कंपनी के दफ्तर पहुंचे किसान

लो वोल्टेज और ट्रिङ्क्षपग की समस्या को लेकर विद्युत वितरण कंपनी के दफ्तर पहुंचे किसान
मुलताई । साहब पहले माथनी की लाईन बरई फीडर से जुड़ी थी जो किसानों द्वारा राशि जमा कर चंदे से लगाई गई थी लेकिन जबसे चिखलीकला फीडर से लाईन जोड़ी गई है तब से लो-वोल्टेज और ट्रिप की समस्या चल रही है जिससे किसान परेशान हो गए हैं। उक्त शिकायत शुक्रवार सुबह माथनी से लगभग आधा सैकड़ा किसानों ने विद्युत वितरण कंपनी के मुख्य कार्यालय पहुंचकर कंपनी के उपमहाप्रबंधक से की गई। किसानों ने कहा कि लो-वोल्टेज के कारण किसान खेती का कार्य नही कर पा रहे हैं तथा समस्या दिनों दिन गहराते जा रही है। उन्होने कहा कि पूर्व की तरह ही बरई फीडर से लाईन जोड़ी जाए ताकि किसानों को राहत मिल सके। किसान अखिलेशसिंह, अश्विन पाल, गोविन्दराव पंवार, सुनीलसिंह, यशवंतसिंह एवं संजयसिंह सहित बड़ी संख्या में किसानों ने विद्युत वितरण कंपनी के उपमहाप्रबंधक संजय यादव को बताया कि चिखलीकला फीडर पर अत्याधिक दबाव होने से वोल्टेज की समस्या चल रही है जिससे किसान सिंचाई नही कर पा रहे हैं। किसानों ने बताया कि समस्या लगातार चल रही है एैसी स्थिति में माथनी के किसान परेशान हो चुके हैं इसके पूर्व भी कई बार शिकायत की गई लेकिन समस्या का कोई हल नही निकाला गया जिससे किसानों को मजबूरन अब आंदोलन पर आमादा होना पड़ सकता है। किसानों की समस्या सुनकर उपमहाप्रबंधक संजय यादव ने कहा कि तकनीकि समस्या के कारण बरई फीडर से माथनी की लाईन नही जोड़ी जा सकती उन्होने कहा कि एक बार वे समस्या को देख लेते हैं जिसके बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। उन्होने कहा कि एक गांव की लाईन दो फीडर से नही जोड़ी जा सकती है। इस पर किसानों ने कहा कि जैसे भी हो समस्या का समाधान किया जाए। दो वर्ष तक चंदे की राशि से की गई सिंचाई किसानों ने बताया कि वर्तमान में जो समस्या है वह पहले भी थी लेकिन किसानों द्वारा आपस में चंदे से 75 हजार रूपए की राशि जमा कर खड़कवार से माथनी जलाशय तक 11 केवी लाईन लगाई गई जिससे किसानों द्वारा सिंचाई की गई। लेकिन पिछले वर्ष माथनी डेम में पानी नही होने से लाईन चिखलीकला फीडर से जोड़ दी गई जिससे सिंचाई में फिर परेशानी होने लगी है। किसानों ने कहा कि सिंचाई के समय ही समस्या बार-बार खड़ी हो रही है जिसका हल निकालना जरूरी है। लगातार ट्रिप होती है लाईन, नही आता लाईनमेन मुलताई विद्युत वितरण कंपनी कार्यालय पहुंचे किसानों ने बताया कि माथनी में लगातार लाईन ट्रिप होती है लेकिन लाईन सुधारने लाईनमेन भी नही आता। किसानों ने बताया कि कई बार लाईन जाने के तीन से चार घंटे बाद लाईन सुधारी जाती है जिससे समस्या खड़ी हो जाती है। किसानों के अनुसार मौके पर कोई लाईनमेन उपस्थित नही रहता जिससे कई घंटे तक किसानों को बिजलीकर्मियों की राह ताकना पड़ता है। इस समस्या पर उपप्रबंधक संजय यादव ने कहा कि वे उक्त क्षेत्र के लाईनमेन को समय पर पहुंचने के निर्देश देगें। समस्या नही सुनी तो पीएचई मंत्री का खटखटाएगें दरवाजा किसानों की समस्या सुनकर जब विद्युत वितरण कंपनी के उपमहाप्रबंधक संजय यादव द्वारा दो टूक शब्दों में बरई फीडर से लाईन जोडऩे का मना कर दिया तो किसानों ने तीखा रोष व्यक्त किया। किसानों ने कहा कि समस्या का समाधान आपको ही करना है लगातार शिकायतों तथा मुलताई कार्यालय पहुंचने के बाद भी यदि समस्या का समाधान नही किया जाता है तो वे पीएचई मंत्री का दरवाजा खटखटाने के लिए मजबूर होगें। किसानों ने कहा कि वे सीधे कार्यालय समस्या लेकर आए हैं इसलिए यहीं से ही समस्या का समाधान होना चाहिए। इनका कहना है- बरई फीडर से लाईन जोडऩे के लिए तकनीकि समस्या है, वे मौके पर पहुंचकर अन्य किसी विकल्प के माध्यम से समस्या के समाधान का प्रयास करेगें। संजय यादव उप महाप्रबंधक विद्युत वितरण कंपनी

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now