BREAKING NEWS

वरूड़ में कोरोना पाजिटिव मिलने से मचा हड़कम्प

वरूड़ में कोरोना पाजिटिव मिलने से मचा हड़कम्प
मुलताई। वरूड़ के निजी अस्पताल में उपचार करा चुकी एक महिला के कारोना पाजेटिव निकलने से मुलताई क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। उक्त प्रकरण ने सोमवार से लाक डाऊन में छूट मिलने के बावजूद मुलताई वासियों के लिए परेशानी बढ़ दी है। बताया जा रहा है कि वरूड़ महाराष्ट्र के जिस अस्पताल से उपचार करा चुकी महिला कोरोना पाजेटिव हुई है वहां नगर सहित पूरे क्षेत्र के बड़ी संख्या में लोग उपचार हेतू जाते हैं तथा वर्तमान में भी कई लोग उपचार करा के आए हैं। हालांकि इसकी सूचना मिलते ही पुलिस, प्रशासन तथा स्वास्थ्य अमला एलर्ट हो चुका है तथा एक दिन पूर्व ही मुलताई एवं महाराष्ट्र की सीमा गौनापुर चौकी को सील कर दिया गया है। सीमा चौकी पर सतत् नजर रखी जा रही है कि कोई भी महाराष्ट्र से मुलताई सीमा में प्रवेश न कर सकें। इसके अलावा महाराष्ट्र से मुलताई सीमा में प्रवेश करने के दूसरे रास्ते पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है ताकि खड़ी पावल मार्ग से भी किसी का प्रवेश ना हो सके। इसके लिए उक्त मार्ग की ग्राम पंचायतों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वे वरूड जाने वाले मार्ग पर सतत निगरानी रखें। इधर बताया जा रहा है कि वरूड़ स्थिति निजी अस्पताल में उपचार करा चुकी महिला को कोरोना पाजेटिव निकलने से अस्पताल के मुख्य चिकित्सक सहित पूरे स्टाफ को क्वारेंटाईन कर उनके सेंपल लेकर भेजे गए हैं जिनकी रिपोर्ट अभी आना बाकि हैं। एक दिन पूर्व ही उक्त निजी अस्पताल से उपचार करा चुके एक सोनोली के ग्रामीण का स्वास्थ्य विभाग द्वारा परीक्षण किया गया था। सीमा चौकी पर चूक से खड़ी हो सकती है समस्या वरूड़ के निजी अस्पताल में मुलताई सहित पूरे क्षेत्र के लोग उपचार कराने जाते हैं विगत मार्च में भी कई लोगों के उपचार करा के लौटने की सूचना है जिससे नगर में हड़कंप मच गया है। अब पूरा दारोमदार सीमा चौकी पर ही निर्भर है कि महाराष्ट्र से कोई भी मध्यप्रदेश सीमा में प्रवेश ना कर सके अन्यथा जरा सी चूक से आगे समस्या खड़ी हो सकती है। बताया जा रहा है कि सीमा पर कड़ी सुरक्षा के साथ निगरानी रखी जा रही है जहां पुलिस, प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद है तथा मुलताई में सीमा चौकी से पल-पल की खबर ली जा रही है। पूरे मामले में प्रभात पट्टन के प्रभारी बीएमओ डा. पल्लव अमृतफले ने बताया कि वरूड़ के निजी अस्पताल में विगत 26 अप्रैल से 30 अप्रैल शाम तक के मरीजों की रिपोर्ट ली जा रही है। उन्होने बताया कि उक्त अस्पताल में मुलताई-पट्टन क्षेत्र से कितने मरीज गए थे तथा कितने वापस आए हैं इसकी पूरी जानकारी हासिल की जा रही है जिसके आधार पर उक्त अवधि में आने वाले लोगों को क्वारेंटाईन किया जा सके। डा. पल्लव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सीमा चौकी पर सतर्कता बरती जा रही है ताकि फिलहाल महाराष्ट्र का कोई भी व्यक्ति सीमा से मुलताई क्षेत्र में प्रवेश ना कर सकें।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now