BREAKING NEWS

सड़क पर पड़े बीमार को अस्पताल ले जाने डायल 100 ने किया इंकार

सड़क पर पड़े बीमार को अस्पताल ले जाने डायल 100 ने किया इंकार
मुलताई। इंदिरा गांधी वार्ड में विचित्र वीर हनुमान प्रतिमा के पास सड़क पर पड़े एक बीमार वृद्ध को मौके पर पहुंची डायल 100 ने अस्पताल ले जाने से इन्कार कर दिया, उक्त सूचना पूर्व पार्षद हनी खुराना द्वारा डायल 100 को दी गई थी। बाद में अस्पताल में विधायक निधि की एंबूलेंस से बीमार वृद्ध को अस्पताल लाकर भर्ती किया गया। पूरे मामले में पूर्व पार्षद हनी खुराना ने बताया कि उन्हे जैसे ही एक बीमार वृद्ध के सड़क पर पड़े होने की सूचना मिली उन्होंने तत्काल संजीवनी 108 से संपर्क किया लेकिन बताया गया कि मुलताई की संजीवनी का वाहन नहीं है। आमला से संजीवनी आने में समय लग सकता है। वृद्ध की हालत गंभीर होने से हनी खुराना द्वारा डायल 100 को सूचना दी जिस पर डायल 100 मौके पर तो पहुंची लेकिन बीमार वृद्ध को अस्पताल ले जाने से इन्कार कर दिया जिससे वृद्ध सड़क पर ही पड़ा रहा। हनी खुराना ने बताया कि डायल 100 के इन्कार करने के बाद उन्होने अस्पताल में पदस्थ डा. पल्लव अमृतफले से संपर्क करके विधायक निधि की एंबूलेंस को भेजने का निवेदन किया गया। स्थिति की गंभीरता को समझते हुए विधायक निधि की एंबूलेंस तत्काल मौके पर पहुंची एवं बीमार वृद्ध को अस्पताल लाकर भर्ती किया गया जिससे समय रहते बीमार वृद्ध को उपचार मिल गया। पूरे मामले में जब डायल 100 पर पदस्थ आरक्षक प्रदीप से डायल 100 की गाईड लाईन के बारे में पूछा गया तो उन्होने बताया कि यह कार्य डायल 108 का है क्योंकि उसमें मरीज को उठाने के लिए स्ट्रेचर सहित अन्य सुविधाएं मौजूद होती है वहीं डायल 100 में कोई सुविधा उपलब्ध नही है। उनसे पूछा गया कि कभी आपातकाल स्थिति में किसी मरणासन्न व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाना हो जिससे उसकी जान बच सकती है तो भी डायल 100 नही ले जाएगी, इस पर डायल 100 के आरक्षक प्रदीप द्वारा संतोषप्रद जवाब नही दिया गया। सुबह से शाम तक सड़क पर पड़ा रहा बीमार वृद्ध इंदिरा गांधी वार्ड के निवासियों ने बताया कि उक्त वृद्ध कई दिनों से वहीं आसपास घूर रहा था जिसे लोग भोजन पानी आदि दे रहे थे। सोमवार सुबह से ही वृद्ध सड़क से उठा नही तो कई लोगों ने उसे उठाने का प्रयास किया लेकिन बीमार होने के कारण वृद्ध उठ नही सका इसलिए उन्होने पूर्व पार्षद हनी खुराना को स्थिति से अवगत कराया। मौके पर पहुंचने के बावजूद वृद्ध को नहीं उठाया पूरे मामले में गौरतलब तथ्य यह है कि सूचना पर डायल 100 मौके पर तो पहुंची एवं वृद्ध की स्थिति भी देखी लेकिन अस्पताल ले जाने से इन्कार कर दिया और डायल 100 बैरंग वापिस हो गई। यहां सवाल यह उठता है कि बीमार वृद्ध कि स्थिति देखकर डायल 100 तत्काल वृद्ध को अस्पताल ले जाकर भर्ती करा सकती थी। पूर्व में कई बार डायल 100 द्वारा रात में भी ग्रामीण अंचलों से कथित शराबियों को बैठाकर मुलताई थाना लाया गया लेकिन जहां तक मानवता का सवाल है तो डायल 100 के रवैये से पूर्व पार्षद सहित अन्य लोगों में रोष व्याप्त है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now