BREAKING NEWS

सूखे पौधों में मेहनत के परिश्रम से फूट रही कोपलें

सूखे पौधों में मेहनत के परिश्रम से फूट रही कोपलें
मुलताई। पिछले वर्ष अक्टूबर माह में नगर के पर्यावरण प्रेमियों द्वारा लगभग 500 पौधे सोनोली मार्ग पर रोपे गए थे। समय के साथ-साथ अधिकांश पौधे जीवित रहे लेकिन कुछ पौधे सूख गए। पौधों को नया जीवन देने के लिए नगर के पर्यावरण प्रेमी शिक्षकों द्वारा वेन्टीलेटर तकनीकि का प्रयोग किया गया जो अत्यंत सफल रहा और सूख चुके पौधों में भी फिर से कोपलें फूटने लगी। शिक्षक एम के वर्मा, आरके मालवीय, गिरीश साहू, अतुल बारंगे तथा साहू सर ने बताया कि वर्तमान में भीषण गर्मी पड़ रही है इसलिए पौधों को पानी देना आवश्यक है उन्होंने बताया कि पहले पौधों के आसपास मिट्टी से क्यारियां बनाई गई ताकि पानी देते समय पानी व्यर्थ ना बहे और पौधों की जड़ों तक पहुंचे। इसके बाद सूखे हुए पौधे चिन्हित किए गए जिनके पास क्यारियां बनाकर मिट्टी के जलपात्र में पानी भरकर भी रखा गया ताकि जलपात्र से रिसता हुआ बूंद-बूंद पानी पूरे दिन पौधों को मिल सकें। इस संबन्ध में शिक्षक आरके मालवीय ने बताया कि इसे वेन्टीलेटर तकनीकि कहा जाता है जो मरणासन्न पौधों के लिए वेन्टीलेटर का कार्य करती है। उन्होंने बताया कि यह तकनीकि कारगर साबित हुई तथा लगातार पानी और वेन्टीलेटर तकनीकि से सूख चुके लगभग 10 पौधों में फिर से जान आ गई और नई कोंपले फूटने लगी जो अत्यंत सुखद था। शिक्षकों ने बताया कि एक दिन की आड़ में पूरा एक टेंकर पानी पौधों को दिया जा रहा है जिसमें सभी पर्यावरण प्रेमी श्रमदान दे रहे हैं। उन्होने बताया कि फिलहाल वक्त कठिन है क्योंकि नवतपा लगने वाला है जिसमें भीषण गर्मी से पौधे प्रभावित हो जाते हैं इसलिए लगातार पानी दिया जा रहा है ताकि पौधे नवतपा झेल सकें। शिक्षकों के अनुसार 8 माह में पौधे खासे बढ़ चुके हैं तथा इस बारिश में पौधों की तेजी से बाढ़ होगी जिससे भविष्य में यह पौधे शीघ्र ही छायादार पेड़ नजर आने लगेगें। नवतपा में दिया जाएगा प्रतिदिन पानी नगर के प्रमुख स्थानों पर अभी तक हजारों पौधे रोप चुके पर्यावरण प्रेमी शिक्षकों ने बताया कि उनके द्वारा आपस में चंदा करके पानी का टेंकर खरीदा जाता है और फिर पौधों को पानी दिया जाता है। उन्होने बताया कि 25 मई से नवतपा लग रहा है इसलिए पौधों को प्रतिदिन पानी देने का निर्णय लिया गया है इसके लिए सभी पर्यावरण प्रेमी सुबह पौधों को पानी देगें। गौरतलब है कि सोनोली रोड पर स्थित खाटू श्याम मंदिर के पास लगभग दो किलोमीटर तक सड़क के आसपास पौधारोपण किया गया है वहीं सांडिया के पास विशाल एरिया में पौधारोपण कर ताप्ती उपवन बनाया गया है इसके अलावा नगर के कोर्ट रोड, स्टेशन रोड सहित अन्य स्थानों पर वृहद स्तर पर पौधारोपण किया गया है जिसमें शत-प्रतिशत पौधे जिन्दा हैं।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now