BREAKING NEWS

हनुमान चालीसा सुनकर आत्मविश्वास बढ़ाया और कोरोना को हराया

हनुमान चालीसा सुनकर आत्मविश्वास बढ़ाया और कोरोना को हराया
घोड़ाडोंगरी(संजय शुक्ला)। अंतत: कोरोना को हराकर 20 दिन बाद जाबांज सिपाही अपने घर लौट आया। इसकी लगातार दो रिपोर्ट पाजिटिव आई थी जिससे उसे 20 दिनों तक भर्ती रहना पड़ा था। अब वह सिपाही पूरी तरह से स्वस्थ्य है। प्राप्त जानकारी के अनुसार भोपाल में पुलिस मुख्यालय के साइबर सेल में आरक्षक के पद पर पदस्थ गोविंदराव पवार 23 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव होने पर भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल में भर्ती हुआ था। घराबते हुए अस्पताल में भर्ती गोविंदराव ने हिम्मत न हारते हुए उन्होंने लगातार डॉक्टर की सलाह मानते हुए दवा का सेवन किया। इस दौरान दूसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई लेकिन गोविंद ने आत्मविश्वास नहीं खोया और वार्ड में भर्ती मरीजों के साथ एक परिवार के रूप में रहे। प्रतिदिन सुबह मोबाइल में हनुमान चालीसा सुनकर अपना आत्मविश्वास बढ़ाया और करोना को हराया। भोपाल स्थिति पुलिस लाइन घर पहुंचने पर मोहल्ले वालों ने ताली बजाकर स्वागत किया। हनुमान चालीसा सुनकर बढ़ा आत्मविश्वास गोविंद राव पवार ने बताया कि 23 अप्रैल को मेरी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी वैसे मुझ में कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे। फिर भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से थोड़ा घबरा गया था। भोपाल के चिरायु हॉस्पिटल में भर्ती हुआ कुछ समय तक घबराहट हुई लेकिन फिर मैंने अपना आत्मविश्वास बढ़ाया और कोरोना से ठीक होकर जल्दी घर पहुंचने की ठानी। प्रतिदिन सुबह 6 बजे उठता डॉक्टर द्वारा दी गई खाली पेट की दवा खाता इसके बाद नहाने के बाद मोबाइल में हनुमान चालीसा का पाठ सुनता था। 8.00 बजे नाश्ता करता था दोपहर में 1 बजे भोजन करता था। भोजन के बाद दवा खाता था। 5 बजे नाश्ता और रात 9.00 बजे भोजन कर दवा खाने के बाद घरवालों से बात कर सो जाता था। अस्पताल में मैं जिस वार्ड में था उस वार्ड में 30 मरीज थे सभी मरीज एक परिवार के रूप में रहते थे। कैरम चेस गेम खेलते थे जिससे कि टाइम का पता नहीं चलता था। कोरोना मरीजों से भेदभाव ना करें गोविंदराव पवार ने बताया कि मेरी तभी लोगों से अपील है कि वह घर में रहे और सुरक्षित रहे इसके साथ ही वे को रोना पॉजिटिव से भेदभाव ना करें। धोखे से यदि कोई कोरोना पॉजिटिव हो जाता है तो उसे कोरोना से डरना नहीं है। आत्मविश्वास बनाए रखते हुए सकारात्मकता के साथ को रोना का इलाज कराना है। सिर्फ 5 दिन तक कोरोना की मेन दवाई चलती है। उसके बाद सिर्फ मल्टीविटामिन की दवाइयां दी जाती है वही खाने-पीने में भी कुछ विशेष नहीं किया जाता है।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now