BREAKING NEWS

३ महीने से जस की तस पड़ी हुई है क्षतिग्रस्त विद्युत लाइन

३ महीने से जस की तस पड़ी हुई है क्षतिग्रस्त विद्युत लाइन
मुलताई। ग्राम हतनापुर से सावंगा मार्ग पर विगत तीन माह से क्षतिग्रस्त विद्युत लाईन विद्युत विभाग द्वारा नही सुधारी गई है जिससे परेशान ग्रामीणों ने मुलताई पहुंचकर विधायक सुखदेव पांसे से इसकी शिकायत की है। लाईन नहीं सुधारने से उक्त ट्रांसफार्मर से जुड़े कनेक्शन की बिजली आपूर्ति ठप्प पड़ी हुई है। हतनापुर निवासी राजकुमार गाडरे, रमेश कड़वे, विजय गाडरे, हरिराम गाडरे, रमेश बुआड़े, बिनोदी गाडरे, विजय हिंगवे, सावन्या गाडरे, डोमा गाडरे, इंदल गाडरे आदि ने बताया कि बीते अगस्त माह में बरगद के पेड़ की टहनी 11 के.व्ही. लाइन के तारों पर गिर जाने से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी इन परिस्थितियों में लाइन से जुड़े ट्रांसफार्मर से खेतों में लगे 36 स्थाई कनेक्शानों की बिजली आपूर्ति अवरूद्ध हो गई है। किसानों ने बताया कि अगस्त माह में ही विभाग के मैदानी अमले के साथ संभागीय कार्यालय पहुंचकर अधिकारियों को लाइन क्षतिग्रस्त होने की सूचना दी थी लेकिन अधिकारियों ने आज तक सुध नही ली इस स्थिति में 100 से अधिक किसान अपने खेतों में लगी रबी की फसल की सिंचाई नही कर पा रहे हैं। कई किसान तो खेत में फसल की बुआई भी नही कर पाये हैं। परेशान किसानों ने विधायक को बताई समस्या बुधवार को ग्राम हतनापुर के किसान रवि गाडरे, दिलीप गाडरे, कैलाश परिहार, गजानन गाडरे, मनोहर घाघरे, रवि परिहार, मुन्ना गाडरे, सुनिल घाघरे, रवि धोतरे, विजय हिंगवे, विजय बुवाड़े, दशरथ परिहार, मुकेश गाडरे, सुखराम गाडरे आदि किसानों ने पूर्व मंत्री एवं विधायक सुखदेव पांसे के निवास पर पहुंचकर समस्या अवगत कराया। किसानों ने बताया कि बिजली लाईन की मरम्मत नही होने से बड़ी दिक्कत हो गई है। बिजली आपूर्ति ठप्प होने से रबी फसल की बुआई के लिए पलेवा नही कर पा रहे हैं जल्द ही बिजली आपूर्ति प्रारंभ नही हुई तो खेत खाली रह जायेंगे। किसानों की समस्या सुनने के बाद विधायक पांसे ने उपमहाप्रबंधक संजय यादव से चर्चा कर 12 घंटे के भीतर लाईन की मरम्मत कर बिजली आपूर्ति करने के निर्देश दिये। प्रतिदिन उजागर हो रही विभाग की लापरवाही विद्युत वितरण कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाह कार्य प्रणाली का यह आलम है कि ट्रांसफार्मर जल जाने के बाद भी ग्रामीण और किसानों की शिकायत पर कोई ध्यान नही दिया ज रहा है। विद्युत वितरण कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाह कार्य प्रणाली के चलते क्षेत्र के किसान बिजली आपूर्ति की बदहाल व्यवस्था से परेशान हो रहे है। कही पर्याप्त वोल्टेज पर बिजली आपूर्ति नही होने से मोटरपंप जलने की समस्या बनी हुई है तो कहीं बिजली आपूर्ति की निर्धारित समयावधि में भी मनमर्जी से बिजली कटौती की जा रही है। स्थिति यह है कि कम क्षमता के ट्र्रांसफार्मरों पर बिजली कनेक्शन अधिक होने से ओव्हर लोड के चलते ट्रांसफार्मर जल रहे हैं। जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही का आलम यह है कि दो से तीन माह में भी जले या खराब हुए ट्रांसफार्मर को बदलने की सुध नही जी जा रही है। किसान रबी सीजन में बिजली आपूर्ति ठप्प होने के कारण फसलों की सिंचाई नही कर पा रहे हैं।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now