BREAKING NEWS

शाम 7 बजे कपड़ा दुकानें बंद करने का व्यापारियों ने लिया निर्णय

शाम 7 बजे कपड़ा दुकानें बंद करने का व्यापारियों ने लिया निर्णय
मुलताई। क्षेत्र में इन दिनों कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है जिससे नगरवासियों के माथे पर चिंता की लकीरें गहराते जा रही है। प्रशासन जहां पूरी सक्रियता से कार्य कर रहा है लेकिन अब नगर सहित पूरे क्षेत्रवासियों की भी यह जिम्मेदारी है कि वे भी संक्रमण से अपनी सुरक्षा को लेकर पूरी सतर्कता बरतें। इसी तारतम्य में नगर के कपड़ा व्यापारियों द्वारा एक सार्थक पहल करते हुए आपसी तालमेल के बाद यह निर्णय लिया गया है कि वें अपनी मर्जी से शाम 7 बजे दुकानें बंद करेगें ताकि वे अपने परिवार को भी पर्याप्त समय दे सकें। इस संबन्ध में व्यापारी मनीष माथनकर एवं सुमीत शिवहरे सहित अन्य व्यापारियों ने बताया कि हर आफिस का एक नियत समय होता है जिसके बाद वे कार्य से मुक्त हो जाते हैं लेकिन व्यापारी ही ऐसा वर्ग है जो सुबह से लेकर रात तक अपने कार्य में जुटा रहता है जिससे कई समस्याएं खड़ी होती है इसलिए दुकान का भी समय लगभग 6 से 7 घंटे ही सुनिश्चित होना चाहिए। मनीष माथनकर ने बताया कि वाट्सअप ग्रुप के माध्यम से समस्त कपड़ा व्यापारियों के सामने यह मुद्दा रखा गया था जिस पर अधिकांश व्यापारियों ने अपनी सहमति देने के बाद शाम सात बजे दुकानें बंद करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा व्यापारियों ने यह भी निर्णय लिया है कि सप्ताह में एक दिन शनिवार भी दुकानें बंद करेगें। व्यापारियों ने बताया कि व्यापारियों को सप्ताह में एक ही दिन मिलता है जब वे बाहर जाकर खरीदी कर सकें। इसके अलावा कई व्यापारी शनिवार बंद के दिन भी दुकानें खोलकर ग्राहकी की आस लगाए रहते हैं जिससे वे एक दिन भी कार्य मुक्त नही हो पाते इसलिए शनिवार बंद का पूर्णत: पालन करने का निर्णय कपड़ा व्यापारियों द्वारा लिया गया। दुकानें बंद करने के लिए दो बार बजेगा सायरन कपड़ा व्यापारी मनीष माथनकर ने बताया कि व्यापारियों द्वारा सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया गया है कि वे आपस में चंदा कर चार सायरनों की व्यवस्था करेगें। सायरन दो बार बजाया जाएगा जिसमें पहला सायरन पौने सात बजे बजेगा ताकि कपड़ा व्यापारी अपनी दुकानें बंद करना प्रारंभ करेगें तथा दूसरा सायरन शाम सात बजे बजाया जाएगा ताकि व्यापारी दुकानें बंद कर अपने घर जा सकें। कपड़ा व्यापारियों के अनुसार यह प्रयोग के तौर पर किया जा रहा है जिसके बाद अन्य सामानों के दुकानदार भी इस पहल पर गौर कर शात सात बजे दुकानें बंद करने का निर्णय ले सकते हैं।

Betul News Copyright © 2021. All Rights Reserved

Chat Now