BREAKING NEWS

11 मजदूर बिना जांच के गौनापुर चौकी से पहुंचे मुलताई

11 मजदूर बिना जांच के गौनापुर चौकी से पहुंचे मुलताई
मुलताई। मध्यप्रदेश एवं महाराष्ट्र सीमा पर स्थित गौनापुर चौकी से बिना जांच के ही गुरूवार 11 मजदूर मुलताई पहुंचे जहां उनके स्वास्थ्य की जांच कर उत्कृष्ट विद्यालय में बने कोरोन्टाईन सेन्टर भिजवाया गया। पूरे मामले में सीमा चौकी पर जांच के लिए बना गए दल की लापरवाही उजागर हुई है वहीं बिना जांच के महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में पहुंच रहे मजदूरों के कारण विशेष तौर पर मुलताई में समस्या खड़ी हो सकती है। इधर बिना जांच के 11 मजदूरों के मुलताई पहुंचने की खबर अधिकारियों को लगते ही पुलिस द्वारा 8 लोगों के स्वास्थ्य की जांच करा के कोरोन्टाईन सेन्टर भेजा गया है वहीं 3 अन्य मजदूरों को पुलिस द्वारा खोजा जा रहा था। वरूड़ महाराष्ट्र से पैदल मुलताई पहुंचे 11 मजदूरों में 8 मजदूर बाकुड़ सारणी के हैं वहीं 3 मजदूर दुनावा के बताए जा रहे हैं जिनकी मुलताई में भी जांच नही हो सकी। मजदूर भदलू वट्टी निवासी बाकुड़ सारणी ने बताया कि वह अपने गांव के अन्य लोगों के साथ बरूड़ संतरा मंडी में कार्य करने गया था जहां कार्य बंद होने के बाद वे कोई परिवहन का साधन नही मिलने से पैदल ही गांव के लिए रवाना हो गए। इधर शनिराम कुमरे ने बताया कि पहले तो वे मंडी में ही रहे लेकिन वहां भोजन की व्यवस्था नही होने से गांव के लिए निकल पड़े। पार्वती वट्टी ने बताया कि वे बुधवार रात से वरूड़ से निकले हैं जो दोपहर में मुलताई पहुंचे जहां से उन्हे अपने गांव जाना चाहते हैं। उन्होने बताया कि सुबह 6 बजे सभी ने गौनापुर चौकी क्रास की जिसके बाद वे मुलताई पहुंचे हैं। सूनी पड़ी थी चौकी वरूड़ महाराष्ट्र से बिना जांच के मुलताई पहुंचे मजदूरों ने बताया कि वे सुबह 6 बजे गौनापुर चौकी पर पहुंचे लेकिन वहां पर जांच करने वाला कोई भी मौजूद नही था। मजदूरों ने बताया कि उन्हे पता था कि सीमा चौकी पर जांच होगी लेकिन जिस समय वे पहुंचे चौकी सूनी पड़ी हुई थी जिससे वे सीधे मुलताई की ओर रवाना हो गए। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश-महाराष्ट्र चौकी पर विशेष रूप से जांच दल बनाया गया है जो महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में प्रवेश कर रहे लोगों की जांच करेगा लेकिन जांच चौकी पर कोई भी मौजूद नही रहना एक बड़ी लापरवाही मानी जा रही है जिससे लोग बिना जांच के ही मध्यप्रदेश में प्रवेश कर रहे हैं। एसडीएम ने कहा पता लगाएंगे बिना जांच के महाराष्ट्र से मुलताई पहुंचे मजदूरों के मामले में जब एसडीएम सीएल चनाप से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि सीमा चौकी पर जांच दल बनाया गया है लेकिन यदि वहां कोई मौजूद नही है तो यह एक बड़ी लापरवाही है वे तत्काल इसका पता लगाते हैं। उन्होने बताया कि जांच दल में कई लोग शामिल है तथा वे भी गौनापुर चौकी का निरीक्षण करने जाते हैं लेकिन गुरूवार सुबह इसके बावजूद चौकी पर किसी के नही होने की जानकारी मिली है वे जाकर स्वयं निरीक्षण करेगें। कोरोन्टाईन सेंटर में रखे मजदूर पूरे मामले में जब सीएमओ राहुल शर्मा से चर्चा की गई तो उन्होने बताया कि उन्हे 8 मजदूरों की जानकारी मिली है जिनके स्वास्थ्य की जांच कराने के बाद उत्कृष्ट विद्यालय में बने कोरोन्टाईन सेन्टर भेजा गया है। उन्होने बताया कि सभी के आधार कार्डों की जांच की गई है तथा उन्हे सुरक्षित रखा गया है जहां उनके भोजन पानी की व्यवस्था कर दी गई है। उन्होने बताया कि आगे की कार्रवाई उच्चाधिकारियों के निर्देशों के अनुसार की जाएगी। मजदूरों को कराया भोजन इधर महाराष्ट्र से भूखे प्यासे पैदल मुलताई पहुंचे मजदूरों की सूचना मिलते ही गुरू द्वारा समिति द्वारा मजदूरों के लिए भोजन के पैकेट सहित पानी की व्यवस्था की गई। समिति के सदस्यों ने बसस्टेंड पहुंचकर मजदूरों को भोजन कराया गया। बताया जा रहा है कि कुल 11 मजदूरों में से 3 मजदूर दुनावा के होने से वे अपने गंतव्य की ओर रवाना हो चुके थे।

Betul News Copyright © 2020. All Rights Reserved

Chat Now